श्मशान के घातियों पर अब ऐसे वज्रपात!

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ठेकेदार और नगर पालिका परिषद के अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है। उन्होंने इस हादसे में हुए नुकासान की लागत ठेकेदार और नगरपालिका के अधिकारियों से वसूलने का फरमान जारी किया है। इससे पहले सीएम योगी ने हादसे के आरोपियों के खिलाफ एनएसए के तहत कार्रवाई करने का आदेश जारी किया है।

उत्तर प्रदेश के मुरादनगर में श्मशान भूमि के पास बनाए गए आश्रय की छत गिरने के मामले में ठेकेदार अजय त्यागी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। हादसे के दिन से ही वह फरार चल रहा था। उस पर 25 हजार का इनाम रखा गया था।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ठेकेदार और नगर पालिका परिषद के अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है। उन्होंने इस हादसे में हुए नुकासान की लागत ठेकेदार और नगरपालिका के अधिकारियों से वसूलने का फरमान जारी किया है। इससे पहले सीएम योगी ने हादसे के आरोपियों के खिलाफ एनएसए के तहत कार्रवाई करने का आदेश जारी किया है।

ये भी पढ़ेंः श्मशान हादसाः और कितने ‘नामुराद’?

अजय त्यागी की गिरफ्तारी से पहले नगर पालिका के तीन अधिकारियों को गिरफ्तार किया गया था। इनमें मुरादनगर नगर पालिका परिषद की कार्यकारी अधिकारी निहारिका सिंह, कनिष्ठ अभियंता चंद्रपाल और सुपरवाइजर आशीष शामिल हैं। दो दिन पहले यहां एक श्मशान भूमि पर बने आश्रय की छत गिर जाने से जहां 25 लोगों की मौत हो गई, वहीं कई लोग घायल हो गए हैं। सीएम योगी ने मृतको के परिजनों को 10-10 लाख रुपए की आर्थिक मदद देने का ऐलान किया है।
बता दें कि इस आश्रय के निर्माण में 55 करोड़ रुपए की लागत आई थी। इसे 15 दिन पहले ही आम लोगों के लिए खोला गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here