गिरफ्तार आतंकियों के राडार पर थी मुंबई की लाइफलाइन! अब सुरक्षा के लिए उठाए जाएंगे ऐसे कदम

खबर आई थी कि आतंकवादी रेकी करने मुंबई आए थे, लेकिन अब राज्य के एटीएस प्रमुख विनीत अग्रवाल ने इस खबर का खंडन किया है। उन्होंने कहा कि ऐसी रेकी नहीं की गई, बल्कि की जानी थी।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा गिरफ्तार किए गए आतंकी मॉड्यूल के बाद देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। पुलिस को सूचना मिली है कि मुंबई लोकल गिरफ्तार आतंकियों के राडार पर थी। इसलिए 15 सितंबर को मुंबई पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक हुई। इस बैठक में मुंबई लोकल के यात्रियों की सुरक्षा के लिए एक नया मॉडल बनाने का फैसला किया गया है।

आतंकियों के राडार पर फिर मुंबई लोकल
पहले खबर आई थी कि आतंकवादी रेकी करने मुंबई आए थे, लेकिन अब राज्य के एटीएस प्रमुख विनीत अग्रवाल ने इस खबर का खंडन किया है। उन्होंने कहा कि ऐसी रेकी नहीं की गई, बल्कि की जानी थी। लेकिन तथ्य जो भी हो, यह स्पष्ट है कि मुंबई लोकल आतंकवादियों के राडार पर थी। इसलिए 15 सितंबर को मुंबई लोकल के अधिकारियों की एक उच्च स्तरीय बैठक हुई। इस बैठक में रेलवे पुलिस आयुक्त कैसर खालिद भी शामिल थे।

ये भी पढ़ेंः पाक मॉड्यूल से जुड़े दो संदिग्ध आतंकी इसलिए छोड़ दिए गए!

मौजूदा सुरक्षा व्यवस्था की होगी समीक्षा
बैठक में मुंबई लोकल की सुरक्षा व्यवस्था की फिर से समीक्षा करने का निर्णय लिया गया है। साथ ही सुरक्षा के लिए नया मॉडल बनाया जाएगा। महिला सुरक्षा का मुद्दा भी अहम होगा। साथ ही पुलिसकर्मियों की संख्या बढ़ाई जा सकती है। महत्वपूर्ण उपनगरीय रेलवे स्टेशनों के प्रवेश द्वारों पर मेटल डिटेक्टर लगाए गए हैं, लेकिन इनमें से कई खराब स्थिति में हैं। अब उन्हें दुरुस्त कर सुरक्षा कड़ी करने का निर्णय लिया गया है।

एटीएस को सुझाव
इस बीच महाराष्ट्र के पूर्व पुलिस महानिदेशक प्रवीण दीक्षित ने राज्य एटीएस को महत्वपूर्ण सुझाव दिए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here