हाई प्रोफाइल रेव पार्टी पर सियासत तेज! भाजपा ने ऐसे साधा महाराष्ट्र सरकार पर निशाना

रेव पार्टी मामले में बॉलीवुड स्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान जैसे सेलिब्रिटीज के साथ कई लोगों को गिरफ्तार किया गया है। अब भारतीय जनता पार्टी ने इस प्रकरण पर ठाकरे सरकार पर निशाना साधा है।

नेशनल एंटी-नारकोटिक्स फोर्स (एनएडीएफ) की एक विशेष टीम ने मुंबई से गोवा जा रही एक क्रूज पर छापा मारा और वहां रेव पार्टी चलने का खुलासा किया। इस मामले में बॉलीवुड स्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान जैसे सेलिब्रिटीज के साथ कई लोगों को गिरफ्तार किया। इसके साथ ही वहां से बड़े पैमाने पर नशीले पदार्थ भी जब्त किए। अब भारतीय जनता पार्टी ने इस प्रकरण पर ठाकरे सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने इस मामले में राज्य सरकार के साथ ही राज्य के गृह मंत्री दिलीप वलसे पाटील को भी फटकार लगाई।

अतुल भातखलकर ने क्या कहा?
भाजपा विधायक अतुल भातखलर ने सरकार और गृह विभाग पर निशाना साधते हुए कहा ,’नेशनल एंटी-नारकोटिक्स फोर्स ने मिली जानकारी के आधार पर मुंबई टू गोवा क्रूज पर छापेमारी की, ड्रग माफियाओं को पकड़ा, ड्रग यूजर्स को पकड़ा, इस स्थिति में राज्य के गृह विभाग और ड्रग रोधी दस्ते क्या सो रहे थे? छह महीने से राज्य का नशा रोधी दस्ता क्या कर रहा था? उन्होंने अब तक कितने छापे मारे ? दिल्ली पुलिस मुंबई में आतंकियों को इसलिए पकड़ती है क्योंकि राज्य का गृह विभाग सो रहा है। वह राजनीतिक बैलेट बॉक्स पर नजर रहने के कारण इस तरह के मामलों को नजरअंदाज कर देता है। इतने बड़े मामले के उजागर होने के बावजूद जयराम रमेश और अन्य कांग्रेस नेता आर्यन खान के समर्थन में आगे आ रहे हैं। इस तरह मुंबई और महाराष्ट्र के कानून और सुरक्षा से समझौता किया जा रहा है। यह ठाकरे सरकार वसूली सरकार है।’

ये भी पढ़ेंः मुंबई टू गोवा क्रूज रेव पार्टी मामलाः इस कारण अब दिल्ली में की जा सकती छापेमारी

राज्य सरकार पर सवालिया निशान
पिछले दो दिनों से एनसीबी ने मुंबई के समुद्री जहाजों पर छापेमारी कर कई हाई प्रोफाइल लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें किंग खान के बेटे आर्यन खान भी शामिल हैं। इसलिए यह कार्रवाई अब काफी चर्चा में आ गई है। साथ ही इस ऑपरेशन में कई अन्य हाई प्रोफाइल लोग भी शामिल हैं। इनके खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी गई है। ऐसे में अब राजनीतिक स्तर पर बहस छिड़ी हुई है। हालांकि, राज्य सरकार की ओर से इस मामले में कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। इस कार्रवाई से राज्य सरकार की क्षमता पर सवालिया निशान उठाए जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here