एनआईए की बड़ी कार्रवाई! नवाब मलिक का करीबी सुहैल खंडवानी गिरफ्तार

एनआईए ने डी-कंपनी के गुर्गों के बोरीवली, सांताक्रूज, बांद्रा, नागपाड़ा, गोरेगांव और पराल में 20 जगहों पर छापेमारी की है।

महाराष्ट्र सरकार के अल्पसंख्यक मंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी नेता नवाब मलिक के सहयोगी और मुंबई में हाजी अली दरगाह के ट्रस्टी सुहैल खंडवानी एनआईए की चपेट में आ गए हैं। उन्हें गिरफ्तार किया गया है। एनआईए की टीम ने 9 मई की सुबह मुंबई के माहिम में 4 जगहों पर छापेमारी की। हाजी अली और माहिम दरगाह के ट्रस्टी खंडवानी की संपत्ति पर भी छापेमारी की गई।

मिली जानकारी के अनुसार सुहैल खंडवानी माहिम इलाके में रहते हैं। 9 मई की सुबह उनके घर के आसपास सीआरपीएफ की एक बड़ी टुकड़ी तैनात कर छापेमरी की गई। बाबा फालूदा के मालिक असलम सोरतिया की संपत्तियों पर भी छापेमारी की गई। फिलहाल दाऊद के गुर्गों के 20 ठिकानों पर छापेमारी की गई है। एनआईए द्वारा की गई इस कार्रवाई ने मुंबई में सनसनी पैदा कर दी।

नवाब मलिक से जुड़ा है मामला
राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने 9 मई को अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम की डी-कंपनी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई शुरू की। एजेंसी ने मुंबई में 20 जगहों पर छापेमारी की। कहा जा रहा है कि 20 ठिकानों का संबंध दाऊद के शार्प शूटर, तस्कर, डी-कंपनी के रियल एस्टेट मैनेजर से है। इसके अलावा कई मनी लॉन्ड्रिंग ऑपरेटरों पर भी छापेमारी की गई है। खास बात यह  है कि जिस मामले में छापेमारी की गई, यह वही मामला है, जिसमें ईडी ने राकांपा नेता नवाब मलिक को गिरफ्तार किया है।

मुंबई में इन 20 ठिकानों पर छापेमारी
मिली जानकारी के अनुसार एनआईए ने बोरीवली, सांताक्रूज, बांद्रा, नागपाड़ा, गोरेगांव और पराल में 20 जगहों पर छापेमारी की है। गृह मंत्रालय के आदेश के अनुसार एनआईए ने दाऊद इब्राहिम, डी कंपनी के खिलाफ मामला दर्ज किया था। दाऊद इब्राहिम से जुड़े मामले की जांच गृह मंत्रालय ने फरवरी 2022 में एनआईए को सौंपी थी। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) देश की सबसे बड़ी आतंकवादी जांच एजेंसी है। इससे पहले ईडी दाऊद से जुड़े मामलों की जांच कर रही थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here