यादें मिल्खा सिंह: उसके लिए पंजाब के मुख्यमंत्री को आना पड़ा

मिल्खा सिंह के परिवार में बेटे जीव मिल्खा सिंह और बेटी मोना हैं। जीव दुबई से भारत आ गए हैं, जबकि बेटी मोना भी अमेरिका से भारत लौट चुकी हैं। जीव मिल्खा सिंह विश्व प्रसिद्ध गोल्फ खिलाड़ी हैं और मोना पेशे से डॉक्टर हैं और अमेरिका में रहती हैं।

मिल्खा सिंह के रूप में सैनिक, धावक, प्रेरक और राष्ट्र का गौरव अनंत में विलीन हो गया। वे 91 वर्ष के थे। 13 जून को उनकी धर्मपत्नी का निधन भी हुआ था। दोनों ही लोगों का निधन कोविड 19 संक्रमण से हो गया।

मिल्खा सिंह और उनकी पत्नी खिलाड़ी थे, मिल्खा सिंह विश्व प्रसिद्ध धावक और उनकी पत्नी निर्मल भारतीय वालीबॉल दल की कप्तान थीं। दोनों ही खिलाड़ी के रूप में 1955 में श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में एक खेल प्रतियोगिता में हिस्सा लेने गए थे। यहीं मिल्खा सिंह और निर्मल की पहली भेंट हुई जो प्यार में बदल गई।

ये भी पढ़ें – क्या अपराधियों के हाथ हो गया है किसान यूनियन आंदोलन? पढ़ें कब क्या हुआ?

और हाथों पर ही लिख दिया
कोलंबों में हुई पहली भेंट में दोनों के मध्य बहुत देर तक चर्चा होती रही। फिर, दोनों अपने-अपने होटल जाने लगे तो मिल्खा सिंह अपने होटल का पता देने लगे, इसके लिए कागज नहीं मिला तो हाथों पर ही होटल का पता लिख दिया। विदेश में खिले प्रेम के फूल देश में पारिवारिक विरोध का सामना कर रहे थे। मिल्खा का प्रेम निर्मल के परिवार को स्वीकार नहीं था।

मुख्यमंत्री आए सामने
निर्मल पंजाबी खत्री परिवार से थीं। उनके परिवार को मिल्खा सिंह स्वीकार नहीं थे। इस बीच मिल्खा सिंह की यह दिक्कत लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गई थी। जिसे सुनकर पंजाब के तत्कालीन मुख्यमंत्री प्रताप सिंह कैरो सामने आए। उन्होंने दोनों ही परिवारों से चर्चा की और बात पक्की हो गई। वर्ष 1962 में मिल्खा सिंह और निर्मल विवाह के बंधन में बंध गए।

कोरोना से हो गए थे ग्रसित
मिल्खा सिंह और उनकी पत्नी कोरोना से ग्रसित थे। दोनों को मोहाली के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहां से पीजीआई अस्पताल में भर्ती किया गया था। 13 जून को निर्मल मिल्खा सिंह का कोविड 19 संक्रमण के कारण निधन हो गया था। इसके बाद 18 जून को मिल्खा सिंह ने इस दुनिया से विदा ले ली।

ये भी पढ़ें – महाराष्ट्रः शिवसेना के स्थापना दिवस पर क्या बोलेंगे उद्धव ठकरे?

राष्ट्र ने दी श्रद्धांजलि
मिल्खा सिंह औ उनकी पत्नी के इस प्रकार निधन से सभी स्तब्ध हैं। मिल्खा सिंह के निधन के बाद राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से लेकर सभी ने अपनी संवेदनाएं व्यक्त की हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here