टेरर फंडिंग मामले में पीएफआई के 106 लोगों पर कसा शिकंजा! जानिये, कहां से दबोचे गए कितने लोग

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के ठिकानों पर 22 सितंबर की सुबह राष्ट्रीय जांच एजेंसी, प्रवर्तन निदेशालय और राज्य पुलिस की मदद से यह छापेमारी की गई है।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की संयुक्त टीम ने 22 सितंबर की सुबह से राजधानी दिल्ली सहित 11 राज्यों में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के ठिकानों पर छापेमारी करते हुए अब तक 106 संदिग्धों को गिरफ्तार कर चुकी है। वहीं, छापेमारी के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अहम बैठक चल रही है।

खबर लिखे जाने तक यह छापेमारी जारी है। केरल, कर्नाटक और महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा गिरफ्तारियां हुई हैं। राजधानी दिल्ली से तीन लोग गिरफ्तार किए गए हैं, जबकि उत्तर प्रदेश से आठ लोग पकड़े गए हैं। सूत्रों के अनुसार, दिल्ली में पीएफआई अध्य्क्ष परवेज के यहां एनआईए ने तड़के साढ़े तीन बजे छापेमारी कर उसे और उसके भाई को गिरफ्तार किया। ओखला में रहने वाला परवेज लंबे समय से पीएफआई से जुड़ा है।

22 सितंबर की सुबह से छापेमारी
सूत्रों के अनुसार, पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के ठिकानों पर 22 सितंबर की सुबह राष्ट्रीय जांच एजेंसी, प्रवर्तन निदेशालय और राज्य पुलिस की मदद से यह छापेमारी की गई है। इस छापेमारी में सबसे ज्यादा गिरफ्तारी केरल में हुई। इस बीच एनआईए द्वारा पहले दर्ज एक मामले में जांच एजेंसी ने हैदराबाद के चंद्रयानगुट्टा में तेलंगाना पीएफआई मुख्यालय को सील कर दिया है। पुणे के कोढ़वा इलाके में भी छापेमारी चल रही है।

कहां से कितने लोग किए गए गिरफ्तार?
छापेमारी के दौरान केरल में 22 लोगों के अलावा कर्नाटक और महाराष्ट्र में 20-20 लोग गिरफ्तार किए गए हैं। इसके बाद सबसे ज्यादा 10 गिरफ्तारी तमिलनाडु से की गई है। इसी क्रम में असम से 9, उत्तर प्रदेश से 8, आंध्र प्रदेश से पांच, मध्य प्रदेश से चार लोगों को गिरफ्तार किया गया जबकि दिल्ली और पुड्डुचेरी से भी 3-3 लोग पकड़े गए हैं। राजस्थान से भी दो गिरफ्तारियां हुई हैं।

महाराष्ट्र में भी छापेमारी
सूत्रों के मुताबिक, महाराष्ट्र में भी पीएफआई के ठिकानों पर एनआईए का सर्च ऑपरेशन चल रहा है। महाराष्ट्र में कुछ पीएफआई नेताओं को एनआईए ने हिरासत में लिया है। पीएफआई पर देश में हिंसा भड़काने, आतंकवादी हमले कराने, दंगे फसाद और टेरर फंडिंग जैसे गंभीर आरोप हैं। पीएफआई के डी कंपनी के साथ भी कनेक्शन की बात सामने आ रही है। ऐसे में एनआईए को जांच के बाद पुख्ता सबूत भी मिल सकते हैं।

यह भी पढ़ें – यूएन में भारत ने पाक को लगाई फटकार, अल्पसंख्यक अधिकारों को दिखाया आईना!

लखनऊ में कई ठिकानों पर छापा
सूत्रों की मानें तो उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के इंदिरा नगर इलाके से मोहम्मद वसीम उर्फ बबलू को एनआईए ने हिरासत में लिया है। आरोपित वसीम कपड़ा सिलने का काम करता है। इसके अलावा एनआईए और एटीएस की चार टीमें यूपी में छापेमारी कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here