कानपुर हिंसा में है पीएफआई कनेक्शन?

शहर में अब स्थिति सामान्य है, परंतु अब पुलिस हिंसात्मक गतिविधियों के पीछे के संगठनों की खोज शुरू कर दी है। इसमें पुलिस ने पॉप्युलर फ्रंट ऑफ इंडिया और अन्य कट्टरवादी इस्लामी संगठनों की भूमिका की भी जांच कर रही है। इसके लिए वीडियो और अन्य सर्विलांस उपायों की सहायता से संशयितों को खंगाला जा रहा है।

एक हिंदी समाचार माध्यम को दी गई जानकारी में कानपुर पुलिस आयुक्त विजय सिंह मीणा ने जानकारी दी है कि, शहर में एमएमए जौहर फैन्स नामक संगठन के अध्यक्ष हयात जफर हाशमी ने बंद की पुकार की थी, जिसे उन्होंने बाद में वापस ले लिया था। परंतु इसके पश्चात भी लोगों ने जुमे की नमाज के बाद बेकनगंज क्षेत्र में दुकानें बंद कराने का प्रयत्न किया गया। हिंसात्मक घटनाओं के पीछे इस्लामी कट्टरवादी संगठन पीएफआई की भूमिका की भी जांच पुलिस कर रही है। इसके अलावा अन्य कट्टरवादी संगठनों पर पुलिस और गुप्तचर एजेंसियों सक्रियता से कार्य कर रही हैं।

ये भी पढ़ें – कानपुर के दंगाइयों पर ऐक्शन शुरू, अब तक 35 गिरफ्तार

शहर में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात
आयुक्त ने बताया है कि, बेकनगंज समेत हिंसा प्रभावित क्षेत्र में पीएसी की अतिरिक्त कंपनियां तैनात कर दी गई हैं। हिंसात्मक गतिविधियों से घबराए लोगों को समझाने और विश्वास उत्पन्न करने के लिए जिलाधिकारी नेहा शर्मा और पुलिस आयुक्त विजय सिंह मीणा खुद सड़कों पर गश्त कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here