ठेके पर जमानत… पुलिस ने गिरोह का किया भंडाफोड़

जमानत मिलना एक बड़ी कसरत वाली बात है। इसमें जोड़ जुगाड़ करने से भी लोग नहीं चूकते। जिसके कारण एक अपराध में संलिप्त लोग जमानत के लिए दूसरा अपराध भी कर लेते हैं।

ठाणे पुलिस आयुक्त क्षेत्र मे कल्याण शहर में पुलिस ने एक ऐसे फर्जी जमानत देने वाले गिरोह को गिरफ्तार किया है जो नकली राशन कार्ड तैयार कर न्यायालय से जमानत दिलाने का व्यवसाय करते थे। पुलिस ने इस गिरोह के पांच लोगों को गिरफ्तार कर नकली दस्तावेज बरामद किए हैं। यह गिरोह लोगों को जमानत दिलाने के लिए ठेका लेता था, उनसे मुंह मांगी राशि लेकर उन्हें जमानत दिलवाता था।

ये भी पढ़ें – बैठा कोई, भरेगा कोई… मंत्रालय में किरिट की फोटो पर राजनीति, होगा ‘उनका’ निलंबन!

ठाणे पुलिस आयुक्त कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार कल्याण पुलिस की क्राइम ब्रांच को 24 जनवरी को यह जानकारी मिली थी कि, नकली राशन कार्ड के माध्यम से जमानत देने का व्यवसाय न्यायालय में चल रहा है। जिसके बाद कल्याण के महात्मा फुले पुलिस थाने ने इसकी जांच शुरू की। गुप्त जांच में इस गिरोह का पूरा सूत्र ही सामने आ गया। जिसके बाद पुलिस ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जिसमें मालाड निवासी मोहम्मद रफीक, जयपाल जोगोरी, धारावी का संतोष, कोपरी विरार निवासी मौर्य, जोगेश्वरी का महमद हबीब महमद हाशमी के और नायगांव निवासी चंदू उर्फ चंद्रकांत खामकर का समावेश है।

इनके खिलाफ संबंधित धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। इस प्रकरण में क्राइम ब्रांच के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक किशोर शिरसाट, सहायक पुलिस निरीक्षक भूषण दायमा की टीम ने प्रमुख भूमिका निभाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here