पत्थर की खान में भरे पानी में डूबने से चार मासूमों की मौत, मुख्यमंत्री ने जताया दुख

पुलिस ने आरंभिक जांच में बताया कि चारों बच्चे 8 मई की शाम से लापता थे। बाद में उनके शव खान में भरे पानी से बरामद किए गए।

जोधपुर शहर के निकटवर्ती कालीबेरी स्थित पत्थर की खान में भरे पानी में डूबने से मंगलवार सुबह चार बच्चों की मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने गोताखोरों की मदद से चारों शवों को बाहर निकलवाया। सभी की उम्र 10 से 14 साल के बीच बताई जाती है। घटना को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर दुख व्यक्त किया और शोक संतप्त परिवारों के प्रति गहरी संवेदना जतायी।

ऐसे मिली जानकारी
सूरसागर थानाधिकारी गौतम डोटासरा ने बताया कि सुबह सूचना मिली कि काली बेरी की पत्थर की खान में भरे पानी के बाहर कुछ बच्चोंं के जूते और कपड़े पड़े हैं। बच्चों के डूबने की आशंका के बीच गोताखोरों को बुलाया गया। इस बीच बच्चों के परिवार के लोग भी जमा हो गए। पुलिस ने गोताखोरों की मदद से एक-एक कर चार बच्चों के शवों को बाहर निकलवाया। शवों को कार्रवाई के लिए एमजीएच भिजवाया गया है। पुलिस की तरफ से कार्रवाई की जा रही है। इस घटना को लेकर मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर संवेदना व्यक्त की और दुख जताया है।

8 मई की शाम से थे लापता
पुलिस ने आरंभिक जांच में बताया कि चारों बच्चे 8 मई की शाम से लापता थे। इनकी पहचान पूनमचंद, युवराज पुत्र रमेश भील एवं टीकम- गोपाल पुत्र गोविंद भील के रूप में की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here