घोटाले में फंसे गुप्ता बंधु यूएई में गिरफ्तार

दक्षिण अफ्रीका में अरबों रुपए का घोटाला करने के आरोपी भारतीय मूल के गुप्ता बंधु को गिरफ्तार कर लिया गया है। समाचार माध्यमों के मुताबिक यूएई में राजेश गुप्ता और अतुल गुप्ता को 6 जून को गिरफ्तार किया गया है। गुप्ता बंधु दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा के शासनकाल के दौरान हुए राजनीतिक भ्रष्टाचार के आरोपों का सामना कर रहे हैं। गुप्ता बंधु भारत के राज्य उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले के रहने वाले हैं।

रेड कार्नर नोटिस था जारी
समाचार माध्यमों के मुताबिक दोनों देशों ने अप्रैल 2021 में एक प्रत्यर्पण संधि की पुष्टि की है, लेकिन अभी यह साफ नहीं है कि क्या गिरफ्तारी के बाद दोनों भाइयों की दक्षिण अफ्रीका में वापसी होगी। पिछले साल जुलाई में अंतरराष्ट्रीय आपराधिक पुलिस संगठन (इंटरपोल) ने गुप्ता बंधु के खिलाफ रेड कार्नर नोटिस भी जारी किया था।

ये भी पढ़ें – हरियाणा में चौटाला और विज के बीच पॉलिटिकल प्रपंच, मुख्यमंत्री की चिंता का समाधान

गिरफ्तारी की पुष्टि
दक्षिण अफ्रीका के न्याय और सुधार सेवा मंत्रालय ने गुप्ता बंधु की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। मंत्रालय ने कहा है कि यूएई के कानून प्रवर्तन अधिकारियों से सूचना मिली है कि भगोड़े राजेश और अतुल गुप्ता को गिरफ्तार कर लिया गया है। यूएई और दक्षिण अफ्रीका के बीच इस संबंध में बातचीत जारी है।

इस घोटाले में राजेश और अतुल के अलावा अजय गुप्ता का भी नाम भी शामिल है। तीनों भाई सहारनपुर के रहने वाले हैं। 1990 के दशक में तीनों भाई सहारनपुर से दक्षिण अफ्रीका चले गए थे। कुछ समय पहले खुलासा हुआ था कि जांच शुरू होने से पहले गुप्ता बंधु दक्षिण अफ्रीका से भागकर दुबई चले गए थे। आपराधिक मामलों की जांच के लिए दक्षिण अफ्रीकी प्रशासन इनका प्रत्यर्पण कराना चाहता है। गुप्ता बंधुओं के खिलाफ सरकारी कंपनियों के साथ मिलीभगत को लेकर अरबों रुपये के घपले की जांच चल रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here