इन क्षेत्रों में ‘तौकाते’ का खतरा! मौसम विभाग ने दी चेतावनी

मौसम विभाग ने सूचित किया है कि अरब सागर में कम दबाव का क्षेत्र बन गया है। अगले कुछ दिनों में यह और तीव्रता प्राप्त कर लेगा। इसके कारण गोवा और दक्षिण कोकण में इसके कारण तेज वर्षा हो सकती है। यह चक्रवाती तुफान है जिसका नाम तैकाते है।

मौसम विभाग के अनुमान के अनुसार शनिवार तक कम दबाव का क्षेत्र अधिक तीव्रता प्राप्त कर लेगा और रविवार को यह चक्रवात का रूप धारण कर लेगा। वर्ष 2021 का यह पहला चक्रवाती तूफान है।

ये भी पढ़ें – और वीर सावरकर के मार्ग पर चल पड़ा इजरायल! पढ़ें इजरायली पीएम की वो चेतावनी

यहां हो सकती है बारिश
अरब सागर के दक्षिण पूर्व के हिस्से और आसपास यह कम दबाब का क्षेत्र बना हुआ है। 15 मई 2021, को इसके चक्रवाती तूफान बनने का अनुमान है। इसके पश्चात यह चक्रवात उत्तर-उत्तर पश्चिम क्षेत्र में 18 मई को गुजरात और उसके आसपास पहुंचेगा। इसके कारण 13 मई से 17 मई के बीच केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक, दक्षिण कोकण और गोवा में सामान्य और कुछ स्थानों पर तेज वर्षा हो सकती है।

वर्षा का अनुमान

लक्षद्वीप – 13 और 14 मई 2021 को वर्षा हो सकती है, 15 मई को हो सकती है तेज वर्षा

केरल – 14 और 15 मई को मध्यम या तेज वर्षा का अनुमान

तमिलनाडु – हल्की से मध्यम वर्था 14 मई को हो सकती है। 15 मई को तेज वर्षा का अनुमान

कर्नाटक (तटीय और घाटी क्षेत्र) – 13 मई को हल्की वर्षा और 14 मई को तेज वर्षा का अनुमान, 15 मई को बहुत तेज वर्षा और अतिवृष्टि हो सकती है 16 व 17 मई को

दक्षिण कोकण, गोवा – हल्की से मध्यम वर्षा 16 मई को और बहुत तेज वर्षा हो सकती है 16 और 17 मई को

गुजरात – 17 मई से वर्षा का मौसम निर्मित हो सकता है अगले दो दिनों में 18 मई को इसके कारण सौरास्ट्र और कच्छ व 19 मई को कच्छ और दक्षिण पश्चिम राजस्थान में हो सकती है वर्षा

ये भी पढ़ें – सनसनीखेज! बैंकों के बाकी कर्ज से देश में मुफ्त टीकाकरण संभव

ऐसे पड़ा नाम
तौकाते का नामकरण म्यांमार के सुक्षाव पर हुआ है। इसका अर्थ है हल्ला करनेवाली छिपकली। इस चक्रवात के समय समुद्र में तूफान रहेगा। इसके लिए केरल ने अपने मछुवारों को समुद्र में मत्स्यमारी के लिए जाने से रोक दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here