हिमाचलः भारी बारिश के चलते पर्यटकों के लिए एडवाइजरी जारी, यहां प्राप्त करें पूरी जानकारी

पिछले 24 घंटों में हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश और पर्यटन स्थलों की ओर जाने वाले विभिन्न मार्गों पर भूस्खलन की घटनाएं भी हुई हैं।

हिमाचल प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश के दृष्टिगत पर्यटन और नागरिक उड्डयन विभाग ने पर्यटकों के लिए एडवाइजरी जारी की है।

निदेशक, पर्यटन और नागरिक उड्डयन अमित कश्यप ने कहा कि पिछले 24 घंटों में हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश और पर्यटन स्थलों की ओर जाने वाले विभिन्न मार्गों पर भूस्खलन की घटनाएं भी हुई हैं। उन्होंने पर्यटकों से आग्रह किया कि वे हिमाचल प्रदेश का भ्रमण करने से पहले राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एसडीएमए) की वेबसाइट https://hpsdma.nic.in पर जानकारी अवश्य प्राप्त करें।

उन्होंने राज्य में भ्रमण पर आए पर्यटकों को परामर्श दिया कि वे नदी किनारों और भू-स्खलन की आशंका वाले क्षेत्रों की ओर न जाएं। किसी भी आपात स्थिति में वे पर्यटन विभाग और एचपीटीडीसी के पर्यटक सूचना केंद्रों से संपर्क करें।

www.himachaltourism.gov.in या www.hptdc.in या https://hpsdma.nic.in पर भी जानकारी प्राप्त की जा सकती है। उन्होंने पर्यटकों को परामर्श दिया कि वे यात्रा के लिए सड़कों व पर्यटन स्थलों के बारे में पूर्व सूचना अवश्य प्राप्त करें।

मुख्यमंत्री ने की भारी बारिश से प्रभावित क्षेत्रों में तत्काल राहत एवं बचाव कार्य की समीक्षा
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने विभिन्न जिलों के उपायुक्तों के साथ प्रदेश में भारी बारिश के कारण उत्पन्न स्थिति की समीक्षा के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए उन्हें तत्काल राहत और बचाव अभियान सुनिश्चित करने के साथ-साथ महत्वपूर्ण स्थानों पर पर्याप्त संख्या में बचाव दल और मशीनरी तैनात करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सेब उत्पादक क्षेत्रों और अस्पतालों की ओर जाने वाली प्रमुख सड़कों को प्राथमिकता के आधार पर बहाल किया जाए। उन्होंने कहा कि पर्यटकों को किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए फिसलन वाले स्थानों और नदी तटों से दूर रहने का परामर्श दिया जाए। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार से राहत और पुनर्वास कार्यों के लिए अतिरिक्त केंद्रीय दल भेजने का अनुरोध किया जाएगा।

जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य में अब तक पिछले 24 घंटों के दौरान 20 मौतें हुई हैं। उन्होंने सभी संबंधित विभागों को प्रभावी बचाव कार्यों के लिए उचित समन्वय बनाए रखने के निर्देश भी दिए। उन्होंने उपायुक्तों को अपने-अपने जिलों में आवश्यकतानुसार स्कूल बंद करने के संबंध में निर्णय लेने के निर्देश भी दिए।

उन्होंने भूस्खलन और बाढ़ के कारण हुई मौतों पर दुख व्यक्त करते हुए ईश्वर से दिवंगत आत्माओं को शांति प्रदान करने और शोक संतप्त परिवारों को अपूरणीय क्षति को सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here