जानें…ड्रैगन कैसे हो गया कमलम?

गुजरात की रुपाणी सरकार ने कहा है कि ड्रैगन फ्रुट अब कमलम नाम से जाना जाएगा। प्रदेश के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि ड्रैगन फ्रुट का कमलम नाम बदलने हेतु पेटेंट के लिए आवेदन दिया गया है।

लद्दाख बॉर्डर के बाद अब अरुणाचल प्रदेश में चीन के साथ बढ़ रहे तनाव के कारण भारत चीन के हर प्रोडक्ट पर रोक लगाने के साथ ही वहां प्रचलित नामों को भी बदल देना चाहता है। इसी कड़ी में गुजरात सरकार ने एक अहम फैसला लिया है। सरकार ने ड्रैगन फल का नाम बदल दिया है। उसने इसका नाम कमलम कर दिया है। सरकार का कहना है कि भारत में ड्रैगन का क्या काम?

.. और ड्रैगन हो गया कमलम!
गुजरात की रुपाणी सरकार ने कहा है कि ड्रैगन फ्रुट अब कमलम नाम से जाना जाएगा। प्रदेश के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि ड्रैगन फ्रुट का कमलम नाम बदलने हेतु पेटेंट के लिए आवेदन दिया गया है। बता दें कि ड्रैगन फ्रुट गुजरात के कच्छ, नवसारी और सौराष्ट्र के कई भागों में उगाया जाता है। सीएम रुपाणी ने कहा कि ड्रैगन नाम उचित नहीं लगता। यह नाम ऐसा लगता है कि जैसे ये भारत का नहीं, चीन का फल है। इसलिए हमने इसका नाम बदलने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि किसान कहते हैं कि यह कमल जैसा दिखता है, इसलिए सरकार ने इसे कमलम नाम देने का फैसला किया है।

ये भी पढ़ेंः ‘पति, पत्नी और वो’ पर कोर्ट ने क्या कहा.. जानिए

बीजेपी का चुनाव चिह्न है कमल
गौर करनेवाली बात यह है कमल भारतीय जनता पार्टी का चुनाव चिह्न है। साथ ही गुजरात के पार्टी मुख्यालय का नाम भी श्रीकमलम है। हालांकि रुपाणी ने कहा कि ड्रैगन फ्रुट के नामकरण में कोई राजनीति जैसी बात नहीं है। ड्रैगन के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि यह फल गुजरात के शुष्क इलाकों में उगाया जाता है और यह अपने पोषक तत्वों के लिए मशहूर है। इसमें हेमोग्लोबिन और प्लेटलेट्स बढ़ाने की अद्भुत क्षमता है। इस वजह से बाजार में इसकी काफी मांग है।

इन बीमारियों में लाभकारी
डायबिटीज में ड्रैगन फ्रुट काफी फायदेमंद है। इसके आलावा हृदय रोग, कैंसर, कोलोस्ट्रॉल, पेट संबंधी समस्याओं, गठिया, इम्युनिटी, डेंग्यू, हड्डियों और दांतों, शारीरिक कोशिकाओं की मरम्मत, अस्थमा व गर्भावस्था में भी यह काफी लाभकारी है।

ये भी पढ़ें – देखें – इस ‘मुफ्ती’ की डर्टी पिक्चर…

चीन के सम्राट मानते हैं खुद को ड्रैगन
ड्रैगन एक काल्पनिक जीव है। इसका आकार सर्प की तरह होता है। कुछ संस्कृतियों में इसमें उड़ने और मुंह से आग उगलने की क्षमता होती है। यह विश्व की कई संस्कृतियों और मिथको में पाया जाता है। इस जीव को अजगर भी कहा जाता है। यूनानी में इसे द्राकोन कहा जाता है। इसका मतलब होता है, एक बड़े आकार का जीव, जो विशेषकर पानी में रहता है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इसे चीन की संस्कृति का प्रतीक माना जाता है। इसलिए चीन को ड्रैगन नाम से भी जाना जाता है। ड्रैगन का स्वरुप भयावह होने के साथ ही साहसी भी है। लेकिन यह शाही अधिकार का प्रतिनिधित्व करनेवाला एक प्रतीक बन गया है। इसलिए चीन के सम्राट खुद को ड्रैगन मानते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here