क्या अपने ही देश की गुप्तचरी करवा रहे थे पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति? 14 बक्सों में गोपनीय कागज मिले

डॉनल्ड ट्रंप की दिक्कतें बढ़ सकती हैं। उनके घर से बरामद कागजों के कारण वे जांच के घेरे में हैं।

अमेरिका की खुफिया जांच एजेंसी एफबीआई (संघीय जांच ब्यूरो) ने पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के फ्लोरिडा स्थित आवास से बरामद 15 बक्सों में से 14 में गोपनीय दस्तावेज मिलने का शुक्रवार को दावा किया है। एफबीआई ने इसी माह ट्रंप के मार-ए-लागो आवास पर छापा मारा था और इसके स्पष्टीकरण के लिए एक हलफनामा (एफीडेविट) जारी किया है। इससे यह प्रश्न खड़ा होता है कि, इन गोपनीय कागजों को क्यों डॉनल्ड ट्रंप ने घर में रखा था। क्यों वे गुप्तचरी करवा रहे थे?

एफबीआई के 32 पन्नों के हलफनामे में आपराधिक जांच को लेकर जानकारियां हैं। इसमें कहा गया है कि मार-ए-लागो स्थित आवास से संवेदनशील दस्तावेज बरामद किए गए हैं। दस्तावेजों में जांच का सबसे महत्वपूर्ण विवरण पेश किया गया है लेकिन एफबीआई अधिकारियों ने इसमें कुछ बदलाव भी किए हैं ताकि गवाहों की पहचान उजागर ना हो सके तथा जांच के संवदेनशील तौर-तरीकों का भी खुलासा ना हो।

ये भी पढ़ें – राजा सिंह के समर्थन में उतरे भाजपा विधायक बृजभूषण राजपूत, इस बात के लिए पार्टी पर साधा निशाना

न्यायाधीश को एफबीआई ने हलफनामा दिया ताकि वह ट्रंप के आवास पर छापे का वारंट हासिल कर सके। इस हलफनामे में उन अहम सवालों के जवाब मिल सकते हैं कि ट्रंप व्हाइट हाउस से जाने के बाद गोपनीय दस्तावेजों को अपने साथ मार-ए-लागो आवास क्यों ले गए और ट्रंप तथा उनके प्रतिनिधियों ने ये दस्तावेज राष्ट्रीय अभिलेखागार तथा रिकॉर्ड ब्यूरो को क्यों नहीं दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here