जंगलराज! बिहार के दरभंगा में ऐसी पिटी पुलिस, एक की मौत

बिहार में दरभंगा जिले के मेहरा सहायक खाना के अंतर्गत रजवाड़ा टोला के पास अतिक्रमण हटाने पहुंची पुलिस पर स्थानीय लोगों ने हमला बोल दिया। इस हमले में एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई है। राज्य में हाल के कुछ दिनों में हो रहे हमलों को लेकर लोग जंगलराज वापसी की बात कर रहे हैं।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) अवकाश कुमार ने बताया कि मंगलवार को पटना उच्च न्यायालय के आदेश पर जिले के नेहरा सहायक थाना क्षेत्र के रजवाड़ा टोल (तरौनी मोड़) के समीप सड़क से अतिक्रमण हटाने गये पुलिसकर्मी पर अतिक्रमणकारियों ने हमला कर दिया। इस हमले में एक पुलिसकर्मी की मौत हो गयी है, जबकि मनीगाछी के अंचलाधिकारी एवं दो पुलिसकर्मी घायल हो गये। पुलिस और प्रशासन की कई गाड़ियों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया है। पुलिस उपद्रवियों को पकड़ने के लिए छापेमारी कर रही है। अब तक दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

अवकाश कुमार ने ड्राइवर चेत नारायण सिंह की मौत की पुष्टि करते हुए बताया कि अतिक्रमण पूर्ण रूप से खाली करा लिया गया है। पुलिस पर पथराव एवं सरकारी कार्य में व्यवधान करने वाले के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया की जा रही है। गांव में तनाव को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है।

दरभंगा पुलिस मेन्स एसोसिएशन के अध्यक्ष राजू सिंह समेत कई लोग दरभंगा अस्पताल पहुंच जवान की मौत पर दु:ख जताया। साथ ही सभी तरह के सरकारी सुविधा दिलाने की मांग की है। मृतक जवान (गृह रक्षक ) चेत नारायण सिंह दरभंगा जिले के विरौल थाना में दंगा नियंत्रण वाहन पर चालाक के रूप में तैनात था।

यह भी पढ़ें – शशि थरूर लड़ सकते हैं कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव, इस बात से मिले संकेत

एसएसपी ने बताया कि इस पत्थरबाजी में वहां तैनात कर्मचारियों एवं पुलिस बल के जवान भी चोटिल हो गये।इसमें तीन गाड़ियों के क्षतिग्रस्त होने के साथ ही राजीव प्रकाश राय, हल्का कर्मचारी सुधीर सिंह के साथ ही एक दंगा नियंत्रण वाहन गाड़ी के ड्राइवर चेत नारायण सिंह बुरी तरह घायल हो गये। घायल ड्राइवर को स्थानीय स्तर पर इलाज के बाद डीएमसीएच रेफर कर दिया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here