नौकरी से निकाले जाने के बाद कर्मचारियों ने उठाया ऐसा खतरनाक कदम, जानकर आप भी रह जाएंगे हक्का बक्का

मामले की जांच में पता चला है कि सभी ने 1 सितंबर की सुबह कंपनी के बाहर ही जहर खा लिया।

शहर के परदेशीपुरा थाना क्षेत्र में 1 सितंबर की सुबह उस समय सनसनी फेल गई, जब एक साथ सात लोगों ने जहर खाकर खुदकुशी का प्रयास किया। सभी को उपचार के लिए एमवाय अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज चल रहा है। मामले की शुरुआती जांच में पुलिस को पता चला कि सभी एक ही कंपनी में काम करने वाले कर्मचारी हैं, जिन्हें एक साथ नौकरी से निकाल दिया गया था, जिसके बाद उन्होंने यह खतरनाक कदम उठा लिया।

जानकारी के अनुसार 1 सितंबर की सुबह सात लोगों को जहर खाने के कारण तबियत बिगड़ने के बाद कुछ लोगों द्वारा एमवाय अस्पताल लाया गया था, जहां सभी की हालत देखते हुए डॉक्टरों ने तत्काल भर्ती कर उपचार शुरू किया। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंची और इनके साथ आए लोगों ने बातचीत की।

जांच में हुआ खुलासा
जांच में पुलिस को पता चला कि जमनाधर विश्वकर्मा, दीपक सिंह, राजेश मेमियोरिया, देवीलाल करेडिया, रवि करेडिया, जितेंद्र धमनिया, शेखर वर्मा ने जहर खाया है। ये सभी परदेशीपुरा थाना क्षेत्र में राजकुमार ब्रिज के पास स्थित निजी कंपनी अजमेरा वायर में नौकरी करते हैं। बताया जा रहा है कि कंपनी ने सभी को काम से निकाल दिया था। इसके चलते कर्मचारियों ने यह कदम उठाया। उधर, घटना के बाद कंपनी मालिक रवि बाफना और पुनीत अजमेरा लापता हैं। परदेशीपुरा पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

कंपनी के बाहर ही खा लिया जहर
पुलिस के अनुसार मामले की जांच में पता चला है कि सभी ने 1 सितंबर की सुबह कंपनी के बाहर ही जहर खा लिया। जब इनकी तबियत बिगड़ी तो साथी कर्मचारियों को पता चला। इस पर सभी को अस्पताल ले जाया गया, जहां सभी की हालत नाजुक बनी हुई है। घटना के बाद से अभी तक कंपनी मालिक रवि बाफना, पुनीत अजमेरा के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

यह भी पढ़ें – सोपोर मुठभेड़ः जानिये, मारे गए जैश आतंकी का कितना खतरनाक था इरादा

परिजन पहुंचे, लगाया ये आरोप
उधर, जैसे ही कर्मचारियों के परिवार वालों को जहर खाने की जानकारी मिली तो वे भी घबराते हुए तत्काल अस्पताल पहुंच गए। जहां उन्होंने कंपनी के मालिकों पर आरोप लगाया। परिजनों के अनुसार कंपनी मालिकों ने नई कंपनी खोली है और निकाले गए कर्मचारियों को उस नई कंपनी में काम देने की बात कही थी, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। दबाव में इन्होंने यह कदम उठाया। उधर, पुलिस का कहना है कि मामले में जांच की जा रही है, जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here