पाक आतंकवादी गिरफ्तार! त्योहारी सीजन में दिल्ली को दहलाने का ऐसा था नापाक इरादा

2005 में 29 अक्टूबर को दिवाली से दो दिन पहले आतंकियों ने दिल्ली में अलग-अलग स्थानों पर तीन धमाके कराए थे। उनमें 63 लोगों की मौत हो गई थी।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को बड़ी सफलता मिली है। सेल ने लक्ष्मी नगर के रमेश पार्क से एक पाकिस्तानी आतंकी को धर दबोचा है। बताया जा रहा है कि वह त्योहारी मौसम में आतंकी हमले का षड्यंत्र रच रहा था। उसकी गिरफ्तारी से दिल्ली एक बड़ी आतंकी वारदात से बच गई है।

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने इस आतंकी साजिश का पर्दाफाश करते हुए शहर के खतरे को टलने का दावा किया है। सेल ने उसके पास से एके-47 राइफल जैसे खतरनाक हथियार के साथ ही एक अतिरिक्त मैगजीन और 60 राउंड जिंदा कारतूस, एक हैंडग्रेनेड तथा 2 अत्याधुनिक पिस्टल भी बरामद किए हैं।

कई प्रावधानों के तहत मामला दर्ज
आतंकी की पहचान मोहम्मद अशरफ उर्फ अली के तौर पर हुई है। वह पाकिस्तान के पंजाब प्रांत का रहिवासी है। वह भारत में नकली कागजात बनाकर रह रहा था। उस पर गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम, विस्फोटक अधिनियम, आर्म्स एक्ट तथा अन्य प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार करने के बाद उसके घर की तलाशी ली, जिसमें बड़े पैमाने पर हथियार के साथ ही विस्फोटक भी बरामद किए गए। स्पेशल सेल के पुलिस उपायुक्त प्रमोद सिंह कुशवाहा ने बताया कि पाकिस्तानी नागरिक मोहम्मद अशरफ ने फर्जी कागजात के आधार पर भारतीय पहचान पत्र हासिल किया था। वह भारत का नागरिक बनकर रह रहा था।

ये भी पढ़ेंः त्योहारी मौसम में आतंकियों के निशाने पर देश के ये शहर

2005 में हुए थे तीन धमाके
बता दें कि 2005 में 29 अक्टूबर को दिवाली से दो दिन पहले आतंकियों ने दिल्ली में अलग-अलग स्थानों पर तीन धमाके किए थे। 2 धमाके सरोजिनी नगर और पहाड़गंज जैसै महत्वपूर्ण स्थानों पर कराए गए थे। तीसरा धमाका गोविंदपुर में एक डीटीसी बस में हुआ था। इन धमाको में 63 लोगों की मौत हुई थी, जबकि 200 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे। एक बार फिर दिल्ली पुलिस को त्योहारी मौसम में राजधानी में आतंकी साजिश रचे जाने की इन पुट मिली है। उसके बाद से यहां अतिरिक्त सावधानी बरती जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here