बिहार का मोस्ट वॉन्टेड नाटकीय रूप से दिल्ली में गिरफ्तार, आरोप जानकर कॉंप जाएंगे

राज्य में शराब बंदी है, इसके बाद भी शराब की बिक्री और उसका सेवन चल रहा था। जिसका परिणाम है कि, सस्ती शराब के चक्कर में शराब माफिया जहरीली शराब बेचने से भी नहीं चूकता।

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने बड़ी सफलता प्राप्त की है। उसने एक ऐसे आरोपी को गिरफ्तार किया है, जिसकी खोज बिहार पुलिस के लिए अत्यावश्यक तो थी ही, सरकार के लिए भी जरूरी थी। आरोपी जहरीली शराब काण्ड का सरगना माना जा रहा है।

बिहार के जहरीली शराब काण्ड के सरगना राम बाबू महतो पर 80 लोगों की मौत की जिम्मेदारी है। जैसे ही राज्य में मौतें होनी शुरू हुई, महतो भागकर बिहार से दूसरे राज्यों में आ गया। बिहार सरकार के लिए उत्तर देना कठिन पड़ रहा था। सामान्य जनों का आरोप है कि, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बयान ने सरकार की असंवेदनशीलता का दर्शन करा दिया। वहीं आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस को बड़ी दिक्कत का सामना करना पड़ा रहा था। आरोपियों के दूसरे राज्यों में भाग जाने की आशंकाओं के कारण बिहार पुलिस ने दूसरे राज्यों की पुलिस से सहायता मांगी थी। इसी क्रम में दिल्ली पुलिस से भी गुप्त सूचनाएं साझा करते हुए कार्रवाई की मांग की गई थी।

ये भी पढ़ें – Rishabh Pant Car Accident: ऋषभ पंत की हुई प्लास्टिक सर्जरी, जानें अब कैसा है स्वास्थ्य

जहर का कहर, गांव के गांव में मचा मातम
सारन जिले में शराब पीने से लोगों के स्वास्थ्य बिगड़ने की सूचनाएं प्राप्त हुई थीं। जैसे-जैसे दिन बीतते गए मौत का आंकड़ा बढ़ने लगा। जो अंतिम आंकड़ा सामने आया, उसके अनुसार 80 लोगों की मौत जहरीली शराब ने ले ली थी। इसमें से कई परिवारों में एक से अधिक लोगों की जान जहरीली शराब ने ली थी। इस प्रकरण के प्रमुख आरोपियों में एक नाम था, राम बाबू महतो का। जिस पर इस शराब की बिक्री करने का आरोप था। वह, प्रकरण सामने आने के बाद फरार हो गया था। उसकी खोजबीन के लिए बिहार पुलिस ने दिल्ली पुलिस से सहायता मांगी थी। इस संबंध नें गुप्त सूचनाएं भी साझा की गई थीं, जिस पर कार्रवाई करते हुए दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने द्वारका क्षेत्र से राम बाबू महतों को गिरफ्तार कर लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here