रडार पर 30 मो. नंबर, 38 जगहों पर छापेमारी और..! जहांगीरपुरी के दोषियों का बचना है मुश्किल

जहांगीरपुरी हिंसा की जांच की आंच बंगाल तक जा सकती है। फिलहाल दिल्ली पुलिस पश्चिम बंगाल पुलिस से संपर्क कर रही है।

उत्तर पश्चिमी जिले के जहांगीरपुरी का एच और के ब्लॉक 19 अप्रैल सुबह बिल्कुल शांत रहा। वहीं, उत्तर पश्चिमी जिला पुलिस एवं अपराध शाखा ने जांच की प्रक्रिया तेज कर दी है। पुलिस ने 10 और संदिग्धों की पहचान की है। इसके साथ ही पुलिस 18 जगहों पर छापेमारी कर रही है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, पुलिस के समक्ष 30 मोबाइल नम्बर राडार पर है। जिसकी पुलिस बारीकी से जांच कर रही है।

वहीं, जांच में खुलासा हुआ है कि जहांगीरपुरी में शोभायात्रा के दौरान मुख्य आरोपित अंसार को फोन करके बुलाया गया था। जिसने अपने 4-5 साथियों के साथ मस्जिद के बाहर पहुंचकर शोभायात्रा में चल रहे लोगों से बहस कर माहौल बिगाड़ा था।

बंंगाल तक जांच की आंच
सूत्रों की मानें तो जांच की आंच बंगाल तक जा सकती है। फिलहाल दिल्ली पुलिस पश्चिम बंगाल पुलिस से संपर्क कर रही है। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार हथियार मुहैया कराने वाले बदमाश गुल्ली का पता चला है। जिसकी तलाश में ताबड़तोड़ छापेमारी की जा रही है।

ये भी पढ़ें – मस्जिदों पर लाउडस्पीकर को लेकर राज ठाकरे के अल्टीमेटम के बाद मुंबई के मुसलमान बेचैन, पुलिस कमिश्नर से की यह मांग

इकट्ठा किए थे कई सबूत
उल्लेखनीय है कि 18 अप्रैल को फॉरेंसिक टीम ने मौके पर पहुंचकर साक्ष्य इकट्ठा किये थे। मस्जिद के एंट्री गेट पर पड़े कुछ साक्ष्य जुटाए तो मस्जिद की छत पर टीम ने जाकर जांच-पड़ताल की। वहां से भी पुलिस को कुछ चीजें मिली हैं। जिसके बारे में पुलिस अधिकारियों का कहना है कि अभी साक्ष्य एकत्र किये गए हैं जिसमें कई अहम जानकारियां मिली हैं।फिलहाल पुलिस आयुक्त के निर्देश के बाद अपराध शाखा अब इस पूरे मामले की छानबीन कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here