अंतरराष्ट्रीय हवाई सेवाओं पर बढ़ा प्रतिबंध!

भारत से विदेश जाने और आनेवाली कमर्शियल विमान सेवाओं पर प्रतिबंध अगले साल 31 जनवरी 2021 तक जारी रहेगा। विश्व में कोरोना के नए स्ट्रेन से खौफ है। भारत में भी इस संक्रमण से ग्रसित रोगियों की संख्या 20 तक पहुंच गई है।

कोरोना संक्रमण के नए स्ट्रेन के प्रसार को रोकने के लिए भारत ने हवाई सेवाओं पर प्रतंबिध को बढ़ा दिया है। इस संबंध में भारत में विमान सेवाओं के नियंत्रक डीजीसीए ने एक सर्क्युलर जारी किया है। जिसमें स्पष्ट तौर पर कहा गया है कि अंतरराष्ट्रीय विमान सेवाओं पर लगा प्रतिबंध अगले साल तक जारी रहेगा।

भारत से विदेश जाने और आनेवाली कमर्शियल विमान सेवाओं पर प्रतिबंध अगले साल 31 जनवरी 2021 तक जारी रहेगा। विश्व में कोरोना के नए स्ट्रेन से खौफ है। भारत में भी इस संक्रमण से ग्रसित रोगियों की संख्या 20 तक पहुंच गई है। ये सभी लोग विदेशों से आए हैं या विदेश से संक्रमित होकर आए लोगों के संपर्क में आकर ग्रसित हुए हैं। 70 प्रतिशत अधिक खतरनाक कोरोना का नया स्ट्रेन युरोप के कई देशों में कहर ढा रहा है। इस संक्रमण से देश को बचाने के लिए भारत ने ये निर्णय लिया है।

ये भी पढ़ें – फिर तीन को टपकाया!

अंतरराष्ट्रीय विमान सेवाओं पर लगे प्रतिबंध के विषय में नागरी उड्डयन मंत्री हरदीपसिंह पुरी ने कहा है कि, ब्रिटेन की वर्तमान स्थिति को देखते हुए भारत सरकार ने ये निर्णय लिया है कि 7 जनवरी 2021 की आधी रात तक ब्रिटेन से आनेवाली सभी विमान सेवाएं स्थगित की जाती हैं। इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय विमान सेवाओं पर लगे प्रतिबंध 31 जनवरी 2021 तक लागू रहेंगे। इस प्रतिबंध से मालवाहक सेवाओं को अलग रखा गया है। इसके अलावा डीजीसीए द्वारा आवश्यक मंजूरी लेकर जिन सेवाओं को चलाया जा रहा है वो भी इससे बाहर होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here