शाहीन गुलाब और अब जवाद… सागर के तीसरे चक्रवात से महाराष्ट्र के इन स्थानों पर एलर्ट

पिछले एक माह के भीतर तीसरा चक्रवात तटीय क्षेत्रों तक पहुंच रहा है। जिससे महाराष्ट्र और दक्षिण के राज्यों में भारी बारिश हो सकती है।

पिछले दो सप्ताह में राज्य के कई जिलों में मानसूनी बारिश हुई है। बंगाल की खाड़ी में बने तूफान गुलाब ने मध्य महाराष्ट्र, विदर्भ और महाराष्ट्र को प्रभावित किया। इसके बाद अरब सागर में बने चक्रवाती तूफान शाहीन ने ओमान को जोरदार टक्कर दी है। अब एक बार फिर अरब सागर में चक्रवाती तूफान का खतरा मंडरा रहा है। मौसम विभाग ने कहा है कि महाराष्ट्र में इसके चपेट में आने की संभावना है।

16 से 17 अक्टूबर के बीच मराठवाड़ा पहुंचेगा
वर्तमान में, केरल तट के साथ एक कम दबाव का क्षेत्र सक्रिय है। इसलिए हवा का यह कम दबाव वाला क्षेत्र अगले पांच से छह दिनों में चक्रवात में तब्दील होने की संभावना है। तूफान पूर्व की ओर बढ़ रहा है और बंगाल की खाड़ी की ओर बढ़ेगा। नतीजतन, मराठवाड़ा के कुछ जिलों में अगले सप्ताह 16 से 17 अक्टूबर के बीच पहुंचगा। इससे कुछ जगहों पर भारी बारिश के आसार हैं।

ये भी पढ़ें – घाटी में मासूमों को निशाना बनाने वाले आतंकियों का चुन-चुनकर सफाया! केंद्र सरकार की ऐसी है योजना

मूसलाधार बारिश की संभावना
तूफान को ‘जवाद’ नाम दिया गया है। महाराष्ट्र के कई जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश की भी संभावना है। शनिवार को पुणे समेत घाट इलाके में भारी बारिश की संभावना है। मौसम विभाग ने विदर्भ को छोड़कर राज्य के सभी हिस्सों में बारिश की चेतावनी दी है। कोंकण, मध्य महाराष्ट्र, उत्तर-दक्षिण महाराष्ट्र, मराठवाड़ा और घाट क्षेत्रों के लगभग सभी जिलों में येलो एलर्ट जारी किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here