देश के सभी हिंदुओं को ईसाई बनाने का षड्यंत्र! जानिये, दावे में है कितना दम

क्रिश्चियन मिशनरीज एक टार्गेट के तहत देश को हिंदू विहीन बनाने के लिए काम रही है। एक वीडियो के माध्यम से ये दावा किया गया है।

भाजपा नेता और अधिवक्ता अश्विनी उपाध्याय ने दावा किया है कि क्रिश्चियन मिशनरीज एक टार्गेट के तहत देश को हिंदू विहीन बना रही है। एक वीडियो के माध्यम से उन्होंने ये दावा किया है। वीडियो में रिलीजियस पॉलिटिकल ऑबजर्वर होने का दावा करने वाले जेरोम एंटो ने यह सनसनीखेज खुलासा किया है।

एंटो ने इस वीडियो में दावा किया कि भारत के सभी लोगों, प्रधानमंत्री से लेकर अंतिम आदमी तक को क्रिश्चिन बनाने का क्रिश्चियन मिशनरीज का लक्ष्य है। वे इस लक्ष्य को पूरा करने की दिशा में काम कर रहे हैं। जेरोम एंटो का दावा है कि मिशनरीज के लिए काम कर रहे लोगों की ये ड्यूटी होती है कि वो हर दिन 14 हजार लोगों को ईसाई बनाएंगे।

ऐसा है षड्यंत्र
जेरोम एंटो वीडियो में बता रहे हैं, “वे कॉन्फ्रेंस रूम में बैठकर डिसाइड करते है कि सोसाइटी में कैसे जहर घोलना है और फिर लोगों को ईसाई बनाना है। अगर सब लोग ईसाई बन जाएंगे तो कोई हिंदू बचेगा ही नहीं। तो फिर ये हिंदुस्तान कैसे रहेगा।”  एंटो दावा कर रहे हैं कि धर्मांतरण रोधी कानून लागू करने से धर्मांतरण नहीं रुकेगा। वे कहते हैं कि जिन राज्यों में ये कानून लागू है, वहां कितने लोग पकड़े जा रहे हैं?

नेटिजंस कर रहे हैं कमेंट
अश्विनी उपाध्याय ने इस वीडियो को पीएमओ, गृह मंत्रालय सहित रक्षा मंत्री और अन्य संबंधित विभागों को टैग किया है। उपाध्याय के इस वीडियो पर नेटिजंस काफी एक्टिव हो गए हैं और वे ट्विटर पर कमेंट कर रहे हैं। हालांकि ये मामला जांच का है। तभी मामले के तह तक जाकर सच्चाई का पैदा लगाया जा सकेगा।

मृत्युदंड का हो प्रावधान
अजय ठाकुर ने ट्वीट किया है, “कन्वर्ट करने वाले को मृत्युदंड एवं उसकी संपत्ति को नीलाम किया जाए। इसके साथ ही उसके सहयोगियों को आजीवन कारावास से ही इस कुचक्र से बचा सकता है।”

कठोर कानून जरूरी
एआर त्रिवेदी ने लिखा है, “कानून ठंडे है। इसीलिए ऐसा हो रहा है नए कठोर कानून बनाने की आवश्यकता है।”

 

हिंदू राष्ट्र घोषित किया जाए
अमित चौहान ने लिखा है, “जिहादी मानसिकता धर्म परिवर्तन से बचने के लिए एक ही रास्ता है, देश को हिंदू राष्ट्र घोषित किया जाए।”

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here