सीएम ट्राफिक में अटके, लग गए सौ के फटके! दंड वसूलनेवाले पर दंडात्मक कार्रवाई

मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे अपनी सरकार को जन सामान्य के अनुरूप ढालना चाहते हैं। इसलिए जब ट्राफिक जाम में वे फंसे तो भले ही उनको बुरा न लगा हो लेकिन, मुख्यमंत्री की सुरक्षा को लेकर यातायात पुलिस चिंता में पड़ गया।

मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे का कॉन्वॉय ट्राफिक में फंस गया था। यह हुआ बीच मुंबई में, जिसके बाद यातायात पुलिस एक्शन में आ गई। संबंधित पुलिस उपायुक्त ने कमान संभाली और सीएम के कॉन्वॉय को ट्राफिक से निकालते हुए पुलिस विभाग के सहायक फौजदार को दंडित कर दिया।

यह घटना 22 अगस्त की है, जब मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे नरीमन पॉइन्ट से साखर भवन की ओर जा रहे थे। इस बीच एक स्थान पर बहुत ट्राफिक हो गई थी। इस स्थान की जिम्मेदारी एक सहायक फौजदार (मुंबई पुलिस का पद) को दी गई थी। इसकी सूचना के बाद यातायात पुलिस उपायुक्त प्रज्ञा जेडगी, जिन्हें मुख्यमंत्री कॉन्वॉय की जिम्मेदारी दी गई थी, उन्होंने निर्देशित कर ट्राफिक मुक्त करवाया। इसके बाद ट्राफिक जाम वाले स्थान पर ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मी पर सौ रुपए का दंड लगाकर दंडित किया गया।

ये भी पढ़ें – #NeerajChopra ने किया गौरवान्वित, लुसाने डायमंड लीग मीट जीतनेवाले पहले भारतीय बने

अपने ही आदेश से अटके
मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने जुलाई में पुलिस महानिदेशक रजनीश सेठ को आदेश दिया था कि, प्रोटोकॉल नियमों में बदलाव किया जाए। मुख्यमंत्री के सड़क मार्ग से जाते समय सामान्य आवाजाही को दूसरे मार्गों से मोड़ दिया जाता है या रोक दिया जाता है। ऐसे समय सामान्य लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है, कई बार ट्राफिक में एम्बुलेन्स भी अटक जाती है। इन समस्याओं को देखते हुए मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने आदेश दिया था कि, यह जन सामान्य की सरकार है और सामान्य जनों को वीआईपी से अधिक अधिकार हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here