ईलाज के नाम ईसाई प्रचार, बाबा फैला रहा भ्रमजाल! कब होगी कार्रवाई

धर्म प्रचार के काम के लिए झूठा आडंबर फैलाना और धर्मांतरण करना यह बड़ा व्यवसाय ग्रामीण अंचल में सुनियोजित रूप से चलाया जा रहा है। इसके लिए कड़े कानून और कार्रवाई की आवश्यकता है।

अंधश्रद्धा में ईसाई धर्म प्रमुख येसु का नाम लेकर इलाज का फर्जीवाड़ा औरंगाबाद में चल रहा है। इसमें दावा किया जा रहा है कि, कैंसर, घुटनों के रोग समेत कई असाध्य बीमरियां मात्र छूकर ही ठीक हो जाती हैं। यह रैकेट चला रहा था बाबासाहेब शिंदे नामक एक व्यक्ति। जिसके विरुद्ध अब अंधश्रद्धा निर्मूलन संस्था ने निर्मूलन की मांग की है।

बाबासाहेब शिंदे पिछले दो वर्षों से आरोग्य सभा आयोजित कर रहा था। जिसमें वह गंभीर रोगों का उपचार मात्र छूकर और ईसाई देव का नाम लेकर दूर करने का दावा करता है। यहीं नहीं लोगों का विश्वास प्राप्त करने के लिए वह फर्जी लोगों को साथ खड़ा करता था, उनसे सार्वजनिक रूप से कहलवाता है कि, आरोग्य सभा में आने से रोग ठीक हो गया है।

रोग सभा या ईसाई धर्म प्रचार?
बाबासाहेब शिंदे अपनी आरोग्य सभा में ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को अपने आडंबर से फांसता है। इसका वीडियो एक मराठी चैनल ने दिखाकर भंडाफोड़ किया है। वीडियो में बाबासाहेब लोगों के माथे और सिर को छूकर रोग ठीक करने का दावा करता है। औरंगाबाद के पैठण तहसील में स्थित परंडी गांव में वह लोगों को लुभावने भाषण दे रहा था। इसमें वह ईसाई धर्म का नाम ले रहा था। इसी बीच वह कैमरे में कैद हो गया।

ये भी पढ़ें – आया पाकिस्तानी संदेश! मुंबई में होगा 26/11 जैसा हमला, हरिहरेश्वर हथियार बरामदगी से है संबंध?

मंत्री ने दिये जांच के आदेश
बाबासाहेब शिंदे का ईसाई धर्म प्रचार और छूकर रोग ठीक करने का दावा, भ्रामक और अंधश्रद्धा फैलानेवाला है। यह आरोप लगाते हुए अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति के महामंत्री शहाजी भोसले ने प्रकरण दर्ज करके कार्रवाई की मांग की है। इस संबंध में स्थानीय विधायक और रोजगार मंत्री संदीपान भुमरे ने फर्जी बाबा की जांच के आदेश दिये हैं। आशा है पुलिस अब इस प्रकरण में जांच करके शीघ्र कार्रवाई करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here