अस्पताल है या असुरक्षाओं का भंडार?

अस्पतातल परिसर में सांप डोलता हुआ पहुंच गया। इससे मरीजों में डर और सुरक्षा रक्षकों के हाथ-पांव फूल गए। इसके साथ ही जब सीएम वहां पहुंचकर अस्पताल के अंदर प्रबंधन से बात कर रहे थे तो परिसर में खड़ी उनकी गाड़ी के नीचे एक कुत्ते का पिल्ला घुस गया।

भंडारा का अस्पताल कितना असुरक्षित है, इसका एक और प्रमाण सीएम उद्धव ठाकरे के दौरे पर पहुंचने से पहले देखने को मिला। अस्पतातल परिसर में सांप डोलता हुआ पहुंच गया। इससे मरीजों में डर और सुरक्षा रक्षकों के हाथ-पांव फूल गए। इसके साथ ही जब सीएम वहां पहुंचकर अस्पताल के अंदर प्रबंधन से बात कर रहे थे तो परिसर में खड़ी उनकी गाड़ी के नीचे एक कुत्ते का पिल्ला घुस गया।

ये भी पढ़ेंः …और प्रताप सरनाईक के 112 भूखंड जब्त!

सुरक्षा में सेंध-1
अस्पताल में सुरक्षा इंतजाम के अभावों ने 10 नवजातों की निर्ममता से जान ले ली। दुख में डूबे परिवारों को सांत्वना देने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पहुंचनेवाले थे। इसके लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए थे। लेकिन तभी सुरक्षा में एक और सेंध लग गई। सीएम के लिए चकाचक साफ किये गए अस्पताल परिसर में सांप दौड़ने लगा। इसे देखते ही इंसानों पर रौब झाड़नेवाले सुरक्षा रक्षकों ने सांप को नाली में खदेड़ दिया।

सुरक्षा में सेध-2
सुरक्षा में सेंध का सांप निकलने का सबूत शायद कम पड़ रहा था कि एक और इसी तरह की घटना ने रही-सही कमी भी पूरी कर दी। हुआ यह कि सीएम ठाकरे यहां पहुंचने के बाद अस्पताल के भीतर प्रबंधन से बातचीत कर रहे थे। इस बीच उनकी गाड़ी अस्पताल परिसर में खडी थी। तभी एक कुत्ते का पिल्ला सुरक्षा में मौजूद पुलिसकर्मियों और अन्य अरदलियों को चकमा देकर गाड़ी के नीचे घुस गया। जब पुलिसकर्मियों की नजर पड़ी तो उन्होंने उसे उठाकर वहां से बाहर किया।

सुरक्षा को लेकर सवाल
 सुरक्षा का सवाल वहीं खड़ा है कि जब साहब के आगमन के लिए दूल्हन की तरह सजाए गए अस्पताल में सांप डोल रहे हैं और सीएम की सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों और सुरक्षा रक्षकों को चकमा देकर कुत्ते का पिल्ला उनकी गाड़ी के नीचे घुस आया तो आम जनमानस कि लिए कितना असुरक्षित हो सकता है ये अस्पताल।

ये भी पढ़ेंः भंडारा दुर्घटना : मदद पहुंच जाती तो….

दोषियों को बख्शा नहीं जाएगाः सीएम
इस बीच भंडारा जिला अस्पताल पहुंचे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि शिशु के वॉर्ड में आग कैसे लगी, इसकी जांच कराई जाएगी और दोषी अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। सीएम ने भंडारा के भोजापुर जाकर पीड़ित विश्वनाथ और दीपा बेहेरे दंपति से मुलाकात की और उन्हें सांत्वना दिया। इस दौरान वहां मौजूद पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि आग लगने की घटना की जांच करनेवाली टीम में मुंबई अग्निशमन विभाग के प्रमुख पीएस रहांगडाले को भी शामिल किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here