हिंदू राष्ट्र के लिए संत का हठयोग!

जगद्गुरु परमहंस आचार्य महाराज ने मीडिया से बात करते हुए भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने की मांग की। उन्होंने कहा, "मैं मांग करता हूं कि 2 अक्टूबर तक भारत को 'हिंदू राष्ट्र' घोषित कर दिया जाए।"

जगदगुरु परमहंस आचार्य महाराज ने केंद्र सरकार को चेतावनी दी है। उन्होंने अयोध्या में गांधी जयंती तक भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने की मांग की। महाराज ने यह भी कहा कि अगर केंद्र सरकार ऐसा नहीं करती है तो वे जलासमाधि ले लेंगे।

जगदगुरु परमहंस आचार्य महाराज ने मीडिया से बात करते हुए यह मांग की। उन्होंने कहा, “मैं मांग करता हूं कि 2 अक्टूबर तक भारत को ‘हिंदू राष्ट्र’ घोषित कर दिया जाए, नहीं तो मैं जलासमाधि ले लूंगा। इसके साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार से मुसलमानों और ईसाइयों की नागरिकता रद्द करने की भी मांग की है।”

मोहन भागवत ने बताया- हिंदुत्व क्या है
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने 28 सितंबर को सूरत में कहा कि हिंदुत्व एक वैचारिक व्यवस्था है और सभी को एक साथ लाने का विचार इस प्रणाली के माध्यम से प्रस्तुत किया जाता है। भागवत अपनी तीन दिवसीय सूरत यात्रा के दौरान 150 आमंत्रित मेहमानों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा “हिंदुत्व सभी को एक साथ लाता है और उन्हें एक साथ काम करने के लिए प्रेरित करता है। यह सभी को जोड़ता है और सभी को समृद्ध बनाता है।”

ये भी पढ़ेंः धर्मांतरण मामलाः अब इस आइएएस अधिकारी के कनेक्शन का वीडियो वायरल! गिरेगी गाज?

हिंदुत्व में संघर्ष नहीं
आरएएसएस प्रमुख ने कहा, “कभी-कभी कठिनाइयों पर काबू पाने के दौरान संघर्ष होते हैं। लेकिन हिंदुत्व संघर्ष के बारे में नहीं है। दुनिया सत्ता की भाषा जानती है। हमें मजबूत होना है। लेकिन ऐसी शक्ति का इस्तेमाल कभी भी अत्याचारों के लिए नहीं करना चाहिए। धर्म की रक्षा करते हुए, यह बल दुनिया को एक साथ लाने के लिए काम करता है। यह एक देश, एक संस्कृति और उद्देश्य से जुड़े लोगों का एक समूह है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here