अफगनिस्तान में बढ़ेगा खूनखराबा, अमेरिका ने किया चुन-चुनकर मारने का एलान

काबुल बम धमाकों की भारत ने कड़ी निंदा की है। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस के साथ ही ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने भी इस हमले की निंदा की है। इस बीच फ्रांस ने इस हमले के बाद अमेरिका को सहयोग करने की घोषणा की है।

अफगानिस्तान के काबुल हवाई अड्डे पर हुए सीरीयल ब्लास्ट में 72 लोगों की मौत हो गई है। इनमें 12 अमेरिकी सैनिक भी शामिल हैं। काबुल हवाई अड्डे पर हुए इस दिल दहला देने वाले हमले में 11 अमेरिकी सैनिकों के साथ एक नौसेना का चिकित्साकर्मी की भी मौत हो गई है। इस बीच अमेरिका ने इन बम धमाकों के बावजूद अपने निकासी अभियान को जारी रखने की घोषणा की है। राष्ट्रपति जो बाइडन ने घोषणा की है कि अफगानिस्तान से अमेरिकी नागरिकों को निकालने का काम जारी रहेगा।

बाइडन ने दी चेतावनी
बाइडन ने इन धमाकों के लिए कड़ा स्टैंड लेते हुए कहा है कि हम आतंकियों को माफ नहीं करेंगे। हम इसे नहीं भूलेंगे। हम चुन-चुनकर तुम्हारा शिकार करेंगे और मारेंगे। तुम्हें इसका अंजाम भुगतना होगा। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि हम अपने नागरिकों के साथ ही अफगान सहयोगियों को भी बचाएंगे। हमारा मिशन जारी रहेगा। मिली जानकारी के अनुसार इन धमाकों में अमेरिकी सेना के कम से कम 60 जवान घायल भी हुए हैं। घायलों की संख्या और ज्यादा हो सकती है।

रुस के विदेश मंत्रालय ने दी जानकारी
रुस के विदेश मंत्रालय मे कहा है कि हवाई अड्डे के पास दो आत्मघाती हमलावरों और बंदूकधारियों ने भीड़ को निशाना बनाया, जिसमें कम से 72 लोगों की मौत हो गई। अफगानिस्तान में अस्पतालों में स्वास्थ्य व्यवस्था देखने वाली इटली की एक संस्था ने कहा है कि हम हवाई अड्डे पर हमले में घायल 60 लोगों का उपचार कर रहे हैं, जबकि 10 घायलों ने अस्पताल में दम तोड़ दिया है।

भारत की कड़ी निंदा
काबुल बम धमाकों की भारत ने कड़ी निंदा की है। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस के साथ ही ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने भी इस हमले की निंदा की है। इस बीच फ्रांस ने इस हमले के बाद अमेरिका को सहयोग करने की घोषणा की है।

आईएसआईएस-के ने ली जिम्मेदारी
फिलहाल इन धमाकों की जिम्मेदारी आतंकी संगठन आईएसआईएस-के ने ली है। संगठन ने टेलीग्राम अकाउंट के जरिए इसकी जानकरी दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here