बिहार के जेलों में इस कारण मच गया हड़कंप!

पटना के बेउर में चार घंटे तक एसडीओ और एएसपी के नेतृत्व में छापेमारी की गई।

मुख्यमंत्री की शुक्रवार को विधि व्यवस्था पर हुई बैठक के एक दिन बाद 11 जून की सुबह पुलिस प्रशासन ने बिहार के सभी केंद्रीय कारा सहित मंडल कारा में एक साथ छापेमारी की। इस छापेमारी से हड़कंप मच गया। इस छापेमारी का नेतृत्व कहीं डीएम तो कहीं एसडीएम ने किया ।

यह भी पढे-महाराष्ट्र राज्यसभा निर्वाचन में तीसरी जीत भी भाजपा की ही, देर रात ऐसे हुआ राजनीतिक पटाक्षेप

पटना के बेउर में चार घंटे तक एसडीओ और एएसपी के नेतृत्व में छापेमारी की गई। सुबह पांच बजे ही टीम बेउर जेल में छापेमारी करने पहुंच गई और नौ बजे तक सभी वार्डों में एक साथ छापेमारी की गई।

छापेमारी के दौरान किसी कैदी के पास कोई आपत्तिजनक सामान नहीं मिला। छापेमारी में आठ थानों की पुलिस अधिकारी के साथ 200 से अधिक पुलिसकर्मी थे। कदमकुआं में रंगदारी वसूलने वाले आरोपित अपराधी भवानी के सेल में सघन तलाशी ली गई।

बेगूसराय मंडलकारा में 11 जून की सुबह जिला प्रशासन की ओर से छापेमारी की गई। सुबह सात बजे से छापेमारी चल रही थी। इसके बाद डीएम रोशन कुशवाहा, एसपी योगेंद्र कुमार के पहुंचने पर छापेमारी में तेजी आई। डीएम ने विभिन्न वार्डों में जाकर कैदियों से पूछताछ की। जेल में हुई छापेमारी के दौरान आपत्तिजनक समान भी बरामद किया गया है लेकिन इस संबंध में कोई भी अधिकारी कुछ बोलने को तैयार नहीं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here