#PunjabBlast आतंक में झोंकने का है षड्यंत्र!

पंजाब पिछले एक सप्ताह में आतंक की आहट को महसूस कर रहा है। पहले हरियाणा से बब्बर खालसा इंटरनेशनल के आतंकियों की गिरफ्तारी और विस्फोटकों की बरामदगी और सोमवार रात इंटेलिजेंस कार्यालय पर धमाका यह सोचने को मजबूर कर रहा है कि पंजाब को आतंकी आग में धकेलने का षड्यंत्र चल रहा है।

पंजाब पुलिस के इंटेलिजेंस ब्यूरो कार्यालय में सोमवार को धमाका हुआ। इसमें रॉकेट प्रॉपेल्ड ग्रेनेड के उपयोग की आशंका है। घटनास्थल से एक रॉकेट जैसी वस्तु मिली है। पुलिस और फॉरेंसिक की टीमें इसकी जांच कर रही है, जिसके बाद यह अधिक स्पष्ट हो पाएगा।

बब्बर खालसा के निशाने पर भारत
हरियाणा करनाल के बसताड़ा टोल प्लाजा से गुरुवार सुबह विस्फोटकों के साथ चार आतंकी गिरफ्तार किये गए थे। उनके पास से पाकिस्तानी पिस्टल और साढ़े सात किलो आईईडी, मैगजीन, 31 कारतूस, छह मोबाइल फोन और सवा लाख से अधिक की नकदी बरामद की गई है। प्रारंभिक पूछताछ में चारो आतंकियों के बब्बर खालसा प्रमुख हरविंदर सिंह रिंदा के आतंकी मॉड्यूल से जुड़े होने की बात सामने आई है।

ये भी पढ़ें – #Punjab इंटेलिजेंस ब्यूरो कार्यालय पर हमला?

अफगानिस्तान में उपयोग होते थे आरपीजी
रॉकेट प्रॉपेल्ड ग्रेनेड के बारे में कहा जाता है कि, इसका उपयोग अफगानिस्तान में होता रहा है। इसकी क्षमता इतनी है कि, सटीक रूप से किया गया हमला टैंक, हेलिकॉप्टर और विमान को आग के गोले में बदल सकता है। इसकी क्षमता 700 मीटर की होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here