…इसलिए गुल हुए चीन के ‘मा’

जैक मा द्वारा चीन की वित्तीय संरचना पर सवाल खड़ा करने के बाद सरकारी अधिकारियों ने मा को फटकार लगाई थी। सूत्रों के अनुसार राष्ट्रपति शी जिनपिंग के आदेशों के बाद ये किया गया था।

चीन के उद्योगपति जैक मा दो महीनों से किसी सार्वजनिक मंच पर नहीं दिखे हैं। इसे देखते हुए अब विश्व समुदाय में चर्चा है कि चीन की सेंट्रल बैंक की कार्य प्रणाली पर सवाल उठाने के बाद से ही जैक मा का दिखना बंद हो गया है। उनकी सुरक्षा को लेकर भी शंकाएं व्यक्त की जा रही हैं।

जैक मा को अपने ही एक टैलेंट शो ‘अफ्रीकाज़ बिजनेस हीरोज’ में बतौर जज जाना था। लेकिन वे उसमें सम्मिलित नहीं हुए। उनके बदले इस शो में अलीबाबा के एक्जीक्यूटिव सम्मिलित हुए थे। जैक मा की फोटो भी वेबसाइट से हटा ली गई थीं।

ये भी पढ़ें – अब इसमें भी मतदान जैसी प्रक्रिया!

चीनी बैंक पर टिप्पणी भारी पड़ी

चीन में सरकार और प्रशासनिक कार्यों पर टिप्पणी करनेवालों को बर्दाश्त नहीं किया जाता है। जैक मा ने अक्तूबर में एक व्यावसायिक कॉन्फ्रेंन्स के दौरान चीन की नियामक प्रणाली और सरकार द्वारा संचालित बैंको पर अवसरों को प्रभावित करने का आरोप लगाया था।

मा ने भाषण में कहा, वर्तमान वित्तीय प्रणाली औद्योगिक युग की विरासत है, हमें अगली पीढ़ी और युवा लोगों के लिए एक नई स्थापना करनी चाहिए। हमें वर्तमान प्रणाली में सुधार करना चाहिए।

‘मा’ को गुस्सा क्यों आया?

जैक मा द्वारा चीन की वित्तीय संरचना पर सवाल खड़ा करने के बाद सरकारी अधिकारियों ने मा को फटकार लगाई थी। सूत्रों के अनुसार राष्ट्रपति शी जिनपिंग के आदेशों के बाद ये किया गया था। मा के एंट समूह का 37 बीलियन डॉलर का आईपीओ सरकार के निर्देशों पर निलंबित कर दिया। इसके अलावा मा के अलीबाबा ग्रुप होल्डिंग में एकाधिकार-विरोधी जांच शुरू होने के दौरान चीन में ही रहने की सलाह दी गई थी। सरकार से मिल रही धमकियों और स्टेट एडमिनिस्ट्रिशेन फॉर मार्केट रेग्यूलेशन (एसएएमआर) द्वारा शुरू की गई जांच के बाद जैक मा और सरकार के बीच तनातनी बढ़ गई है।

ये भी पढ़ें – …तो कुर्क हो जाएगी संपत्ति!

जो खिलाफ में बोला वो गया

  • चीन में सकार के विरुद्ध बोलनेवालों पर प्रतिबंध लगना आम बात है। वुहान में कोरोना के प्रादुर्भाव के बाद प्रशासनिक स्तर पर किये गए अमानवीय व्यवहार और विश्व को गलत जानकारी देने का खुलासा करनेवाली जैंग जान को जेल में डाल दिया गया। जैंग सिटिजन जर्नलिस्ट हैं और उन्होंने वुहान की सच्चाई से विश्व को अवगत कराया था। इसकी भरपाई उन्हें जेल में बिताकर करनी पड़ रही है। चीनी सरकार ने जैंग जान को झगड़ा करने और परेशानी खड़ा के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है और चार साल के लिए जेल में डाल दिया है।
  • वुहान वायरस / सार्स (कोविड-19) का व्हीसल ब्लोअर माने जानेवाले डॉ. ली विनलियांग की संशयास्पद परिस्थितियों में मौत हो गई थी। ली विनलियांग ने ही पहली बार अपने साथियों को वुहान वायरस / सार्स (कोविड-19) के प्रति सावधान किया था। इसके लिए स्थानीय पुलिस ने ली के खिलाफ जांच शुरू की थी। उन पर झूठी टिप्पणियां करने और सामाजिक व्यवस्था को बिगाड़ने के मामले में जांच की जा रही थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here