कोरोना की तीसरी लहर ने दे दी दस्तक? जानिये, क्या कहते हैं विशेषज्ञ

आईआईटी कानपुर के वैज्ञानिक मणिंद्र अग्रवाल ने कहा कि अगर कोरोना का कोई नया वैरिएंट नहीं आता है तो स्थिति में ज्यादा बदलाव नहीं आएगा।

देश के कुछ राज्यों में बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण तीसरी लहर आने की आशंका जताई जा रही है। विशेषज्ञों ने अक्टूबर-नवबंर में तीसरी लहर आने की भविष्यवाणी की है। हालांकि इसकी तीव्रता दूसरी लहर की तुलना में काफी कम हो सकती है। महामारी के गणितीय प्रारुपन के एक वैज्ञानिक ने यह दावा किया है।

आईआईटी कानपुर के वैज्ञानिक मणिंद्र अग्रवाल ने कहा कि अगर इसका कोई नया वैरिएंट नहीं आता है तो स्थिति में ज्यादा बदलाव नहीं आएगा। अग्रवाल उस तीन सदस्यीय दल के सदस्य हैं, जिसे संक्रमण में वृद्धि का अनुमान लगाने की जिम्मेदारी दी गई है।

एक लाख तक आ सकते हैं नए मामले
अग्रवाल ने कहा कि अगर तीसरी लहर आती है तो प्रतिदिन देश में एक लाख केस सामने आ सकते हैं, जबकि मई में दूसरी लहर के दौरान हर दिन चार लाख मामले पाए जा रहे थे। दूसरी लहर पहली लहर से ज्यादा जानलेवा साबित हुई और इसमे हजारो लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी।

नए वैरिएंट नहीं आने पर खतरा नहीं
अग्रवाल ने ट्वीट कर जानकारी दी कि अगर कोरोना का कोई नया वैरिएंट नहीं आता तो स्थिति में ज्यादा बदलाव नहीं आएगा। उन्होंने दावा किया कि नए वैरिएंट के कारण ही तीसरी लहर आएगी और इस स्थिति में मरीजों की संख्या प्रतिदिन एक लाख तक पहुंच सकती है।

केरल के बाद महाराष्ट्र ने भी बढ़ाई चिंता
इस बीच केरल के बाद महाराष्ट्र में भी कोरोना के आंकड़े बढ़ने से चिंता बढ़ गई है। महाराष्ट्र के साथ ही देश की आर्थिक राजधानी मुंबई मेंभी कोरोना संक्रमण बढ़ने के बाद एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं। मुंबई महानगरपालिका ने एक बार फिर मास्क और सामाजिक दूरी जैसे कोरोना रोधी नियमों को कड़ाई से लागू करने का प्रयास शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में मास्क नहीं पहनने वालों पर दंडात्मक कार्रवाई तेज कर दी गई है।

मुंबई में फिर बढ़ने लगा संक्रमण
मुंबई में पिछले कुछ दिनों से कोविड मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। इसलिए मास्क नहीं पहनने वालों के खिलाफ बीएमसी दंडात्मक कार्रवाई कर रही है। मनपा आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने सभी 24 प्रशासनिक विभागों में यह कार्रवाई तेज करने के निर्देश दिए हैं। इस सिलसिले में उन्होंने जरूरत पड़ने पर अधिक से अधिक ‘क्लीन-अप मार्शल’ की अस्थायी नियुक्ति का भी सुझाव दिया है। आयुक्त ने मुंबई पुलिस को भी बिना मास्क लोगों पर कार्रवाई तेज करने के निर्देश दिए हैं। इसलिए जो लोग अभी तक मास्क नहीं पहन रहे हैं, उन्हें सावधान हो जाना चाहिए। वर्ना क्लीन अप मार्शल आप पर कार्रवाई कर सकते हैं।

ये भी पढ़ेंः महाराष्ट्र में लागू होगा नाइट कर्फ्यू? स्वास्थ्य मंत्री ने बताए कारण

नियमों का कड़ाई से पालन जरुरी
मनपा आयुक्त ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए आवश्यक तीन दिशानिर्देशों को नियमित रुप से पालन करने को लेकर जागरुकता अभियान चलाने के भी निर्देश दिए हैं। इनमें ठीक से मास्क पहनना, सामाजिक दूरी बनाए रखना और बार-बार साबुन से हाथ धोना शामिल हैं। मुंबई में कई जगहों पर ऐसी शिकायतें मिल रही हैं कि नागरिक ठीक से मास्क नहीं पहन रहे हैं। कई सार्वजनिक जगहों पर सामाजिक दूरी नहीं रखे जाने की शिकायतें भी आ रही हैं। इसलिए आयुक्त ने नियमों के उल्लंघन करने वालों के खिलाफ और व्यापक कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here