सूरतः कारखाना मालिक ने नौकरी से निकाला तो मजदूरों ने उठाया दिल दहला देने वाला कदम

सूरत के अमरोली क्षेत्र के अंजनी इंडस्ट्रियल क्षेत्र के वेदांत टेक्सो एम्ब्रॉयडरी कारखाने में 25 दिसंबर को करीब 9 बजे सुबह मारपीट की घटना हुई।

सूरत शहर के अमरोली क्षेत्र स्थित अंजनी इंडस्ट्रियल में नौकरी से निकालने पर दुश्मनी निकालते हुए कारीगरों ने एम्ब्रॉयडरी कारखाना संचालक समेत तीन लोगों की हत्या कर दी। चाकू से दनादन वार करने की सम्पूर्ण घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए दो कारीगरों को दबोच लिया। आरोप है कि कारखाना मालिक ने उनको नौकरी से निकाली तो उन्होंने इस घटना को अंजाम दिया।

सूरत के अमरोली क्षेत्र के अंजनी इंडस्ट्रियल क्षेत्र के वेदांत टेक्सो एम्ब्रॉयडरी कारखाने में 25 दिसंबर को करीब 9 बजे सुबह मारपीट की घटना हुई। इसमें एम्ब्रॉयडरी कारखाना संचालक कल्पेश धोलकिया पर आरोपितों ने चाकू से हमला किया। बीच-बचाव करने आए उसके पिता और मामा को भी गंभीर रूप से जख्मी कर दिया गया। घटना के बाद लोगों की भीड़ जमा हो गई और तीनों घायलों को तत्काल किरण अस्पताल ले जाया गया। यहां चिकित्सकों ने तीनों को मृत घोषित कर दिया।

पीड़ितों के परिजनों ने किया हंगामा
घटना के बाद परिजनों ने आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर हंगामा किया और शव स्वीकारने से इनकार कर दिया। बाद में कतारगाम क्षेत्र के विधायक भी किरण अस्पताल पहुंचे। उन्होंने भरोसा दिलाया कि आरोपित को सख्त सजा दिलाई जाएगी। घटना में कारखाना संचालक कल्पेश धोलकिया उनके पिता धनजी धोलकिया और मामा घनश्याम रजोडिया की मौत हो गई। पुलिस ने जांच शुरू की है। मारपीट करने वाले दो आरोपितों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है, इसमें एक नाबालिग है।

नौकरी से हटाने से थे नाराज
पुलिस उपायुक्त हर्षद मेहता ने बताया कि अमरोली क्षेत्र की यह घटना 25 दिसंबर की सुबह 9 बजे के आसपास की। एम्ब्रॉयडरी कारखाने में काम करने वाले कारीगरों को 10 दिन पूर्व नौकरी से हटा दिया गया था। इसके बाद कारीगरों ने घटना को अंजाम दिया। पुलिस की प्राथमिक जांच में पता चला है कि रात्रि के दौरान काम करनेवाले कारीगरों की परफार्मेंस खराब होने पर उन्हें मालिक ने निकाल दिया था। पुलिस उपायुक्त पिनाकिन परमार ने बताया कि एक कारीगर की भूल की वजह से कपड़ा खराब हो गया था। इसे लेकर कारखाना संचालक ने उसे रुपये देकर नौकरी से हटा दिया था।

कतारगाम क्षेत्र के विधायक और पूर्व राज्य मंत्री विनू मोरडिया घटना की खबर मिलते ही किरण अस्पताल पहुंचे, जहां तीनों को ले जाया गया था। घटना के बाद कई बड़े उद्योगपति भी किरण अस्पताल पहुंचे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here