बांग्लादेशी अधिकारियों की लापरवाही से कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट को 18 करोड़ का नुकसान! कैसे? जानिये इस खबर में

24 मार्च को कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट के बर्थ नंबर पांच पर 165 कंटेनरों से लदा एमबी मरीन-1 जहाज पलट गया था। इससे जहाज पर लदे कुछ कंटेनर पानी में डूब गए थे।

कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट पर गत 24 मार्च को बांग्लादेशी कंटेनर के डूबने के बाद जहाज को सीधा करने में बांग्लादेशी अधिकारियों की लापरवाही की वजह से पोर्ट ट्रस्ट को 18 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। यह जानकारी पोर्ट ट्रस्ट के प्रवक्ता संजय मुखर्जी ने 12 मई को दी है।

उन्होंने बताया है कि पलटे हुए जहाज को अभी तक सीधा नहीं किया जा सका है। इस वजह से नुकसान के और अधिक बढ़ने की आशंका है। संजय ने बताया कि बांग्लादेश का जो कंटेनर डूबा है वह बहुत बड़ा है और जिस बर्थ पर यह डूबा है वह अभी तक बंद है। जहाज के मालिक ने इसकी सुध तक नहीं ली है जिसके कारण पोर्ट ट्रस्ट को नुकसान हो रहा है। मुखर्जी ने बताया कि बर्थ नंबर पांच के बंद होने की वजह से पोर्ट ट्रस्ट को रोजाना 40 लाख रुपये के राजस्व का नुकसान हो रहा है।

ये भी पढ़ें – राज्यसभा की 57 सीटों के लिए मतदान की घोषणा, ऐसा है कार्यक्रम

कुछ कंटेनर पानी में डूब गए थे
उल्लेखनीय है कि 24 मार्च को कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट के बर्थ नंबर पांच पर 165 कंटेनरों से लदा एमबी मरीन-1 जहाज पलट गया था। इससे जहाज पर लदे कुछ कंटेनर पानी में डूब गए थे। इसके अलावा 15 सदस्य क्रू मेंबर्स को पोर्ट ट्रस्ट के अधिकारियों ने सुरक्षित बाहर निकाला था। कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट ने चालक दल के इन सदस्यों को शहर छोड़ने पर पाबंदी लगा दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here