पश्चिम बंगाल में किसलिए जमा किए गए थे मौत के सामान?…. पूरी जानकारी के लिए पढ़ें ये खबर

पश्चिम बंगाल के मालदा के कालियाचक इलाके में 18 बम मिलने से हड़कंप मच गया है। पुलिस अधीक्षक आलोक राजोरिया ने बताया कि फिलहाल स्क्वाड ने बमों को निरस्त कर दिया है। उन्होंने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

पश्चिम बंगाल विधानसभा के चुनाव के मद्देनजर इन बमों को लाये जाने का अनुमान लगाया जा रहा है। कहा जा रहा है कि चुनाव के दौरान किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए ये बम लाए गए थे। लेकिन गुप्त सूचना मिलने के बाद पुलिस ने ट्रैप लगाकर बमों को बरामद कर लिया। हालांकि पुलिस अधीक्षक राजोरिया ने इस बारे में कोई भी आधिकारिक जानकारी देने से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि फिलहाल जांच जारी है। उसके बाद ही कोई जानकारी मीडिया से शेयर की जाएगी।

ये भी पढ़ेंः पश्चिम बंगालः ‘मोदी’ और ‘दीदी’ के नाम की मिठाइयां… जय ‘श्रीराम’ के साथ ‘खेल होबे!’

बड़े पैमाने पर हो रही हैं राजनैतिक हिंसाएं
बता दें कि पश्चिम बंगाल में चुनाव के ऐलान से काफी पहले से ही बड़े पैमाने पर खूनखराबा जारी है और पिछले छह महीनों में दो सौ से ज्यादा राजनैकित हत्याएं हो चुकी हैं। भारतीय जनता पार्टी इसके लिए सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस पार्टी और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को जिम्मेदार ठहराती है। उसका कहना है कि मारे गए ज्यादातर नेता भाजपा के थे।
कानून-व्वस्था को देखते हुए ही चुनाव आयोग ने इस प्रदेश में 8 चरणों में चुनाव कराने का ऐलान किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here