कानपुर के उन अन-सोशल मीडिया मंचों पर शुरू हुई कार्रवाई

बेकनगंज में हुए बवाल को लेकर एटीएस के साथ एसआईटी की तीन टीमें जांच कर रही है। एसआईटी की एक टीम को जिम्मेदारी मिली है कि सोशल मीडिया में उस दौरान साम्प्रदायिक माहौल बिगाड़ने वाली पोस्टों पर जांच करे।

कानपुर हिंसा मामले में जांच में जुटी पुलिस को रोजाना अहम सबूत मिलते जा रहे हैं। सोमवार को जांच कर रही एसआईटी की टीम ने उन 15 हैंडल्स को चिन्हित किया है जो सोशल मीडिया पर साम्प्रदायिक माहौल बिगाड़ने के लिए पोस्ट कर रहे थे। इन सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पुलिस आगे की कार्रवाई में जुट गई है।

यह भी पढे-महाराष्ट्र के इन छह जिलों में कोरोना संक्रमण तेज, हो जाएं सतर्क

बेकनगंज में हुए बवाल को लेकर एटीएस के साथ एसआईटी की तीन टीमें जांच कर रही है। एसआईटी की एक टीम को जिम्मेदारी मिली है कि सोशल मीडिया में उस दौरान साम्प्रदायिक माहौल बिगाड़ने वाली पोस्टों पर जांच करे टीम ने अब तक ट्विटर, फेसबुक, इंस्टाग्राम आदि सोशल मीडिया में साम्प्रदायिक माहौल बिगाड़ने वाली पोस्टों अध्ययन किया। पाया गया कि 15 हैंडल्स ऐसे रहे जो माहौल बिगाड़ने में लगे हुए थे। ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर आनंद कुलकर्णी ने बताया कि टीम ने 15 हैंडल्स के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। सोशल मीडिया में ऐसी पोस्टों को प्रचारित करने वाले इन हैंडल्सों की गिरफ्तारी के बाद बवाल से संबंधित अहम जानकारी मिल सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here