मुंबई में खसरा का कहर! जानिये, कितने बच्चों की हुई मौत और कितनों का चल रहा है उपचार

मुंबई, मालेगांव के बाद नासिक में भी खसरे के 4 संदिग्ध मरीज मिलने से हड़कंप मच गया है।

मुंबई के गोवंडी में खसरा से एक बच्ची की 21 नवंबर की रात मौत हो जाने से शहर में अब तक खसरा से 10 बच्चों की मौत हो गई है। मुंबई में इस समय 208 खसरा मरीजों का इलाज जारी है। नासिक जिले में खसरा के 4 संदिग्ध मरीज मिले हैं। साथ ही मालेगांव, भिवंडी में खसरा के मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग सतर्क हो गया है। स्वास्थ्य मंत्री तानाजी सावंत ने मंगलवार को मुंबई सहित सभी जिलों में खसरा मरीजों का सर्वे करने का निर्देश दिया है।

गोवंडी में बच्चे की मौत
जानकारी के अनुसार 21नवंबर की मध्य रात्रि गोवंडी में खसरा से डेढ़ साल की बच्ची की मौत हो गई है। इससे मुंबई में खसरा से मरने वालों की संख्या बढ़ कर 10 हो गई है। इनमें से एक मौत मुंबई के बाहर भिवंडी से हुई है। गोवंडी में डेढ़ साल की बच्ची को 3 नवंबर को बुखार और खांसी हुई। इसके बाद 5 नवंबर को उसके शरीर पर दाने निकल आए। 11 नवंबर को उसकी हालत बिगड़ गई और अस्पताल में उसे गहन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) में स्थानांतरित कर दिया गया था, जहां बीती रात बच्ची की मौत हो गई।

इन इलाकों में हुई बच्चों की मौत
मुंबई में सो को 24 नए मरीज मिले हैं। मुंबई के गोवंडी डिवीजन में सबसे ज्यादा 6 मरीज हैं। इसी तरह कुर्ला 5, अंधेरी ईस्ट 3, प्रभादेवी, गोरेगांव और कांदिवली संभाग में दो-दो मरीज मिले हैं, जबकि भायखला, माटुंगा, भांडुप, चेंबूर संभाग में एक-एक मरीज हैं। इस तरह मुंबई में खसरा मरीजों की संख्या बढ़ कर 208 हो गई है।

यह भी पढ़ें – यह शांति और सुरक्षा के लिए खतरा, जाने यूएनएससी में भारत ने क्यों कही यह बात

मालेगांव के बाद नासिक में मिले चार संदिग्ध मरीज
इस बीच मुंबई, मालेगांव के बाद नासिक में भी खसरे के 4 संदिग्ध मरीज मिलने से हड़कंप मच गया है। इन 4 संदिग्ध बच्चों के रक्त के नमूने परीक्षण के लिए मुंबई भेजे गए हैं। नासिक में खसरा का खतरा बढ़ने से स्वास्थ्य विभाग अलर्ट पर है। रिपोर्ट मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग शहर में सर्वे करेगा। इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग खसरा के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए खसरा का टीका हर जिले में उपलब्ध करवाए जाने का भी आदेश जारी किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here