राजस्थान में राहतः इन जिलों में झमाझम बारिश

राजस्थान में 13 जून को भी प्री मानसून बारिश का दौर जारी रहा। कहीं हल्की तो कहीं तेज बारिश हुई।

राजस्थान में प्री-मानसून में ही नदियां बहने लगी हैं। पाली, सिरोही, उदयपुर, जालोर के कई इलाकों में 13 जून को हुई बारिश के बाद वहां कई नदियों- नालों में फिर से पानी बहने लगा। रेगिस्तानी जिले जैसलमेर-बाड़मेर में भी तेज बारिश हुई। बरसात से लू, तपन और सूखे की मार झेल रहे लोगों को राहत मिली है।

सिरोही के पिंडवाड़ा तहसील में बारिश के चलते झाडोली नदी में पानी की आवक शुरू हुई है। पाली में काकराड़ी व कोयलवाव नदी में पानी आ गया। इससे जवाई बांध में पानी की आवक शुरू हो सकती है। बाड़मेर में भी तेज बारिश से सड़कों पर नदियों की तरह पानी बहने लगा। जालोर के रानीवाड़ा क्षेत्र के जाखड़ी, धानोल, रतनपुर गांवों में जोरदार बारिश होने के बाद किसानों के चेहरे खिल गए। जैसलमेर के पोकरण में 13 जून को बारिश के साथ तेज हवा चली। करीब 40 किमी की गति से चली हवा के साथ आधे घंटे तक बरसात हुई। बरसात के बाद दिनभर की तेज गर्मी से लोगों को राहत मिली। बीकानेर में भी अच्छी बारिश के बाद लोगों को गर्मी से राहत मिली।

आने वाले दिनों में ऐसा रहेगा मौसम का हाल
राहत की खबर ये है कि मानसून के आगे बढ़ने की गति थोड़ी तेज हो गई और 13 जून को मानसून की दक्षिणी-पश्चिमी सीमा ने मुंबई से आगे बढ़ते हुए गुजरात के वापी के रास्ते सूरत, सोमनाथ तक प्रवेश कर लिया। मौसम विशेषज्ञों की मानें तो मानसून के आगे बढ़ने के कारण राजस्थान में नमी का लेवल बढ़ रहा है, जो आने वाले दिनों के लिए अच्छे संकेत है। मौसम केन्द्र जयपुर के मुताबिक राज्य में आज भी जोधपुर संभाग के सिरोही, पाली, जालोर, कोटा संभाग के बूंदी, झालावाड़, बारां, उदयपुर संभाग के चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर, प्रतापगढ़, राजसमंद, बांसवाड़ा, अजमेर संभाग के टोंक, भीलवाड़ा क्षेत्र में बारिश हो सकती है। वहीं 15 जून से बारिश का दौर हल्का पड़ जाएगा और आसमान साफ होने लगेगा।

प्री मानसून बारिश जारी
राजस्थान में 13 जून को भी प्री मानसून बारिश का दौर जारी रहा। कहीं हल्की तो कहीं तेज बारिश हुई। उदयपुर, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़, डबोक, बाड़मेर, जोधपुर, फलौदी, बीकानेर, जैसलमेर, बारां सहित कई जगहों पर बरसात हुई। जिससे लोगों को गर्मी से राहत मिली। बीकानेर में 17.6 मिलीमीटर, डबोक में 11.2 मिलीमीटर, फलौदी में 5.8 मिलीमीटर बरसात रिकॉर्ड हुई। सिरोही जिले के पिंडवाड़ा में दूसरे दिन भी बारिश का दौर जारी रहा। परलाई नदी में उफान पर पानी बह रहा है। झालावाड़ जिले में दोपहर बाद अचानक मौसम बदला। बादल छाए और धूल भरी हवा चली। जिले के पनवाड़ में करीब आधा घंटा बारिश होने से मौसम सुहाना हो गया। जयपुर में सुबह बादल छाए रहे लेकिन उमस ने आमजन को परेशान कर दिया।

इन क्षत्रों में बारिश होने क संभावना
मौसम केन्द्र जयपुर के अनुसार 14- 15 जून को तेज चक्रवाती हवाओं के साथ कहीं-कहीं हल्की बारिश हो सकती है। अचानक तेज हवाएं चलने के कारण गर्मी के तेवर कम ही पूर्वी राजस्थान के अजमेर, बांसवाड़ा, चित्तौडगढ़, भीलवाड़ा, बूंदी, कोटा, बारां, जयपुर, झालावाड़, डूंगरपुर, दौसा, सवाईमाधोपुर, करौली, प्रतापगढ़, राजसमंद, उदयपुर व पश्चिमी राजस्थान के जालोर व पाली जिले में 40 से 50 किलोमीटर की रफ्तार की हवा के साथ बरसात हो सकती है। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार मानसून के आगे बढऩे के लिए स्थितियां अनुकूल बनी हुई है। उसे देखते हुए बीस जून तक प्रदेश में मानसून के सक्रिय होने के आसार है।

कहां हुई, कितनी बारिश
प्रदेश के अजमेर में 36.4, भीलवाड़ा में 32.4, वनस्थली में 39.2, अलवर में 41.1, जयपुर में 37.0, पिलानी में 44.2, सीकर में 40.0, कोटा में 38.5, डबोक में 34.5, बाड़मेर में 41.2, जैसलमेर में 41.7, जोधपुर में 39.8, फलौदी में 42.0, बीकानेर में 43.1, चूरू में 44.7, श्रीगंगानगर में 44.8, धौलपुर में 42.4, नागौर में 30.7, बूंदी में 38.9, अंता में 39.7, चित्तौडगढ़ में 32.3, डूंगरपुर में 36.0, संगरिया में 44.7, जालोर में 39.4, सिरोही में 37.0, करौली में 39.1 डिग्री अधिकतम तापमान रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here