हैं 45 के पार तो खुशखबरी है यार!

अब 45 साल से ज्यादा उम्र के आम लोगों को भी कोरोना टीका का वरदान मिल सकता है

एक बार फिर देश के कई राज्यों में कोरोना का रोना है, पता नहीं आगे क्या होना है, ऐसी अनिश्चितता से हर कोई परेशान है। हालांकि देश में वैक्सीनेशन जारी है, लेकिन इसमें उम्र का बंधन है। वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में 60 के पार होना जरुरी है। अगर 45 साल से ऊपर हैं तो 20 तरह में से किसी एक गंभीर बीमारी से ग्रस्त होने की शर्त है। तभी आपको टीके का वरदान मिल पाएगा, लेकिन अब एक खुशखबरी है, अगर आपकी उम्र 45 साल से ज्यादा है तो आपको ये वरदान मिल सकता है।

मोदी सरकार ने कैबिनेट में ये फैसला लिया है। अब 45 साल से ज्यादा उम्र के आम लोगों को भी कोरोना टीका का वरदान मिल सकता है। यह नियम 1 अप्रैल से लागू हो जाएगा। अगर आप कोरोना वैक्सीन लगवाना चाहते हैं तो आरोग्य सेतु ऐप के जरिए ये काम घर बैठे आसानी से कर सकते हैं।

 टीकाकरण का दूसरा चरण जारी
बता दें कि पहले चरण में फ्रंट लाइन वर्कर्स का टीकाककण किया गया था। दूसरे चरण में 60 के पार के बुजुर्ग लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है। साथ ही 45 वर्ष से ज्यादा उम्र के उन लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है, जो किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त हैं।

ये भी पढ़ेंः 21 वालों दिल्ली में अब इसलिए खुलकर पियो!

पहला फैसला
केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कैबिनेट के फैसले के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया, ‘भारत में वैक्सीनेशन अच्छी तरह और तेजी से जारी है। अभी तक चार करोड़ 83 लाख लोगों को टीका लगाया जा चुका है। इनमें 80 लाख लोगों को दूसरी डोज दी गई है। पिछले 24 घंटे में रेकॉर्ड 32 लाख लोगों को डोज दी गई है। उन्होंने बताया कि मंत्रिमंडल की बैठक में टास्क फोर्स की सलाह के आधार पर फैसले लिए गए हैं। पहला फैसला 1 अप्रैल से 45 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों के टीकाकरण को लेकर लिया गया है। इसमें रजिस्ट्रेशन के लिए डिजीज सर्टीफिकेट की जरुरत नहीं है।

दूसरा फैसला
दूसरा फैसला ये लिया गया है कि पहले वैक्सीनेशन के दरम्यान 4 से 6 सप्ताह का गैप था, उसे अब वैज्ञानिकों ने पाया है कि कोविशील्ड की डोज का गैप चार से आठ सप्ताह तक रखना ज्यादा लाभदायक रहेगा। बता दें कि 1अप्रैल से टीकाकरण का तीसरा चरण शुरू होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here