उत्तर प्रदेश की जेलों में अब रविवार को नहीं हो पाएगी कैदियों से मुलाकात, ये है कारण

अब बंदियों को मई और जून महिने को छोड़, शाम के समय एक कप अतिरिक्त चाय और चार बिस्कुट दिए जाने के प्राविधान किए गए हैं।

अब उत्तर-प्रदेश की जेलों में हर रविवार को बंदी रहेगी। इस दिन किसी कैदी से मुलाकात नहीं होगी। इसकी जगह शनिवार को मुलाकात होगी। अभी तक शनिवार को बंदी रहती थी। यह नियम केवल प्रदेश की जेलों में लागू था। जबकि देशभर की जेलों में रविवार को ही बंदी रहती है। प्रभारी जेल अधीक्षक अरूण कुमार मिश्र ने बताया कि शासन की ओर से जेल मैनुअल में बड़े परिवर्तन किए गए हैं।

प्रभारी जेल अधीक्षक ने बताया कि अब बंदियों को मई और जून महिने को छोड़, शाम के समय एक कप अतिरिक्त चाय और चार बिस्कुट दिए जाने के प्राविधान किए गए हैं। इसके पूर्व केवल सुबह ही बंदियों को चाय दी जाती थी। होली, दिपावली, स्वतंत्रता एवं गणतंत्र दिवस के अवसर पर विशेष भोजन में दिए जा रहे सूजी के हलुए के स्थान पर खीर एवं ईद-लल-फितर व ईद-उल-जुहा के अवसर पर सेवई दिए जाने का प्राविधान किया गया है।

बंदी कल्याणकारी कैंटीन की कमाई का बंटवारा
बंदी कल्याणकारी कैंटीन के माध्यम से बंदियों को बेचे जाने वाले सामानों व खाद्य सामग्री इस प्रकार चयनित की जाएगी, जिससे बंदियों के स्वास्थ्य और जेल के सामान्य पर्यावरण एवं सुरक्षा पर प्रतिकूल प्रभाव न पड़े। कैंटीन में उपलब्ध सामानों के मूल्य खरीद या तैयारी मूल्य से अधिकतम 10 प्रतिशत लाभ मार्जिन के साथ बेचा जाएगा। ऐसे लाभ का 60 प्रतिशत कैंटीन का खर्च चलाने एवं 40 प्रतिशत बंदियों के कल्याण कोष को दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here