अब बाय-बाय होगी मुंबई की ट्राफिक जाम की समस्या

मुंबई में प्रतिदिन 27 लाख गाड़ियों का आवाजाही होती है। इसमें सड़कों की खराब स्थिति, संकरी सड़कें, बीच सड़क पर चल रहे विकास कार्य लोगों की दिनचर्या में से निजी समय लूट रहे हैं। इसके लिए अब पर्यायी यातायात विकास पर सरकार लक्ष्य केंद्रित कर रही है। सागर से घिरी मुंबई यातायात के लिए अब इसका उपयोग बढ़ाने जा रही है।

मुंबई की भीड़ भरी सड़कों से परिवहन का भार कम करने और पर्यावरण अनुकूल जल परिवहन व्‍यवस्‍था को बढ़ावा देने के लिए रोपैक्‍स फेरी सेवा के 4 नए मार्गों और वॉटर टैक्‍सी सेवा के 12 नए मार्गों को दिसम्‍बर, 2021 तक परिचालन योग्‍य बनाने की योजना बनाई गई है। शहर में चल रहे कोस्टल रोड, रोपैक्स फेरी सेवा, वॉटर टैक्सी ऐसे माध्यम है जो यातायात की समस्या को जल्द ही बाय-बाय कर देंगे।

इस संदर्भ में पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) मनसुख मंडाविया ने महाराष्‍ट्र के मुम्‍बई में शहरी जल परिवहन परियोजनाओं की समीक्षा के लिए आयोजित एक बैठक की अध्‍यक्षता की। बैठक में मंत्रालय के वरिष्‍ठ अधिकारी, मुम्‍बई बंदरगाह के अध्‍यक्ष और महाराष्‍ट्र मैरीटाइम बोर्ड के अधिकारी तथा अन्‍य हितधारक मौजूद थे।

ये भी पढ़ें – पिक्चर अभी बाकी है, एनआईए के रडार पर अब ‘गॉडफादर!’

यहां चल रही सेवा
इस समय रोपैक्‍स (रोल ऑन/रोल ऑफ यात्री) सेवा भाऊचा धक्‍का से मांडवा (अलीबाग) तक परिचालित की जाती है। इसके तहत 110 किलोमीटर की सड़क यात्रा को जल मार्ग के जरिए घटाकर 18 किलोमीटर किया गया है और इससे रोजाना सफर करने वाले लोगों का यात्रा समय 3-4 घंटे से घटकर मात्र एक घंटा रह गया है। इस फेरी सेवा के लाभों को देखते हुए मुम्‍बई के अन्‍य विभिन्‍न मार्गों पर भी इस तरह की सेवाएं शुरू करने की योजना है।

इन मार्गों पर नई सेवा
रोपैक्‍स फेरी सेवा के 4 नए मार्ग और वॉटर टैक्‍सी सेवा के 12 मार्ग खुलने से मुम्‍बई के दैनिक यात्रियों को बहुत लाभ होगा। इससे यात्री प्रदूषण मुक्‍त, शान्तिपूर्ण और समय की बचत करने वाली यात्रा कर सकेंगे और उनका यात्रा समय और खर्च बचेगा तथा कार्बन फुट प्रिंट में भी पर्याप्‍त कमी आएगी। इससे बड़ी संख्‍या में पर्यटकों और दैनिक यात्रियों को मुम्‍बई शहर के हर हिस्‍से की यात्रा में आसानी होगी।

ये भी पढ़ें – अब राजू शेट्टी की इनसे भी कट्टी!

आर्थिक विकास का है दृष्टिकोण
पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) श्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि नए जलमार्गों पर परिचालन शुरू होना, प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के जलमार्गों का उपयोग करने और उन्‍हें देश के आर्थिक विकास से जोड़ने के दृष्टिकोण की दिशा में एक महत्‍वपूर्ण कदम है। सभी तटवर्ती राज्‍यों में रोपैक्‍स सेवा और वॉटर टैक्‍सी सेवा के बहुत से अन्‍य मार्गों पर परिचालन शुरू होने से एक सुचारू पर्यावरण व्‍यवस्‍था और नेटवर्क के विकास की नई संभावनाएं और नए अवसर खुलेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here