ग्वालियर: उधमपुर एक्सप्रेस के आरक्षित कोच में सामान्य टिकट लेकर यात्रा करना पड़ा महंगा

कोच खाली होने पर आरक्षित टिकट धारियों ने राहत की सांस ली।

झांसी कंट्रोल रुम से मिली सूचना पर दुर्ग से उधमपुर जा रही दुर्ग-उधमपुर एक्सप्रेस के ग्वालियर पहुंचते ही उसके आरक्षित कोच में सामान्य टिकट पर यात्रा कर रहे 20 से अधिक यात्रियों को स्टेशन पर आरपीएफ व सीटीआई स्टाफ ने उतारकर सामान्य कोच में शिफ्ट कराया। कोच खाली होने पर आरक्षित टिकट धारियों ने राहत की सांस ली। इस कारण दुर्ग-उधमपुर एक्सप्रेस दस मिनट की देरी से आगरा के लिए रवाना हो सकी।

जानकारी के अनुसार दुर्ग से जम्मू-उधमपुर जा रही दुर्ग-उधमपुर एक्सप्रेस के आरक्षित कोच एस-7 में सवार यात्रियों ने ट्विटर के जरिए डीआरएम झांसी को शिकायत की थी कि इस आरक्षित कोच में झांसी से जनरल टिकट पर यात्रा कर रहे दो दर्जन से अधिक लोगों ने जबरन आरक्षित सीटों पर कब्जा ही नहीं किया,बल्कि कोच की दोनों गैलरी में खड़े होने के कारण यात्रियों को बॉशरुम आने-जाने में परेशानी हो रही थी।

ये भी पढ़ें – चीन को चुनौतीः नाराजगी के बावजूद ये अमेरिकी सीनेटर पहुंचीं ताइवान

यात्रियों को जनरल कोच में किया सवार
ट्रेन के ग्वालियर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर दो पर पहुंचते ही आरपीएफ उपनिरीक्षक अंकित कुमार आरक्षक देशराज मीणा व कपिल कुमार सहित सीटीआई स्टॉफ ने जीआरपी के जवानों की मदद से कोच में सवार सभी सामान्य टिकट यात्रियों को जनरल कोच में सवार कराने के बाद ही ट्रेन आगरा के लिए रफ्तार पकड़ सकी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here