सिंधु ताई के निधन पर सोशल मीडिया पर शोक की लहर, क्या आम क्या खास, सभी दे रहे हैं श्रद्धांजलि!

पद्मश्री सिंधु ताई का जन्म 14 नवंबर, 1948 को महाराष्ट्र के वर्धा में हुआ था। उनका परिवार पशुपालक था। परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी।

अनाथ बचपन के लिए ममता की मूर्ति पद्मश्री सिंधुताई सपकाल का निधन हो गया। वे पिछले डेढ़ महीने से बीमार चल रही थीं। उनके ममतामयी रूप पर फिल्म भी बन चुकी है। हजारों बच्चों की पालनहार सिंधु ताई के निधन पर सोशल मीडिया पर शोक की रहर है। क्या आम, क्या खास उनकी प्रशंसा करते थक नहीं रहे हैं।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उनके निदन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने उनकी एक तस्वीर पोस्ट कर राष्ट्रपति ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है

सोशल मीडिया पर उनके निधन पर शोक की लहर है। अकाउंंट यूजर अपने-अपने शब्दों में उनके प्रति अपनी श्रद्धा व्यक्त कर रहे हैं।

सिंधुताई सपकाल द्वारा अनाथ बालकों के लिए कई आश्रम संचालित किये जाते थे। उनका जन्म 14 नवंबर, 1948 को महाराष्ट्र के वर्धा में हुआ था। उनका परिवार पशुपालक था। परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी। उनके पिता का नाम अभिमानजी साठे था, सिंधुताई के पिता चाहते थे कि उनकी बेटी शिक्षा ग्रहण करे, इसके कारण वे उन्हें स्कूल भेजते थे। परंतु, मां के विरोध, आर्थिक बदहाली और बालविवाह के कारण सिंधुताई चौथी तक ही शिक्षा ग्रहण कर पाईं।

ये भी पढ़ेंः नहीं रही अनाथों की नाथ… ऐसा विशाल जीवन कि हर किसी के लिए ममता मूर्ति थीं सिंधुताई

सिंधुताई संचालित संस्थाएं

  • बाल निकेतन हडपसर ,पुणे
  • सावित्रीबाई फुले बालिका वसतिगृह , चिकलदरा
  • अभिमान बाल भवन , वर्धा
  • गोपिका गौ रक्षण केंद्र , वर्धा ( गोपालन)
  • ममता बाल सदन, सासवड
  • सप्तसिंधु महिला आधार बालसंगोपन व शिक्षणसंस्था, पुणे

सिंधुताई के जीवन पर फिल्म
सिंधुताई के जीवन पर वर्ष 2010 में मराठी फिल्म “मी सिंधुताई सपकाल” नामक फिल्म बनी थी। इसे 54वें लंदन फिल्म महोत्सव में वर्ल्ड प्रीमियर के लिए चयनित किया गया था। इस फिल्म का निर्माण अनंत महादेवन ने किया था।

पुरस्कार व गौरव
सिंधुताई को 750 से अधिक राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार मिले हैं। इसमें पद्मश्री सबसे महत्वपूर्ण है।

  • महाराष्ट्र सरकार का डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर समाज भूषण पुरस्कार (2012)
  • पुणे अभियांत्रिकी कॉलेज का ‘कॉलेज ऑफ इंजीनिअरिंग पुरस्कार’ (2012)
  • महाराष्ट्र सरकार का ‘अहिल्याबाई होलकर पुरस्कार’ (2010)
  • मूर्तिमंत आईसाठीचा राष्ट्रीय पुरस्कार (2013)
  • आईटी प्रॉफिट ऑर्गनाइजेशन का दत्तक माता पुरस्कार (1996)
  • सोलापुर का डॉ. निर्मलकुमार फडकुले स्मृति पुरस्कार
  • राजाई पुरस्कार
  • शिवलीला महिला गौरव पुरस्कार.
  • डॉ. राम मनोहर त्रिपाठी पुरस्कार (2017)
  • पुणे विश्वविद्यालय का ‘जीवन गौरव पुरस्कार’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here