ट्विटर की नजर, ताऊ से तर-बतर! देखें छोटे शॉट्स बड़ी कहानियां

ताऊ-ते केरल से निकला तो अपनी राह में पड़नेवाले सभी तटीय क्षेत्रों को तबाह करते हुए निकला। इसका अंतिम पड़ाव गुजरात है। जहां पहुंचने के पहले ही इसने अपनी आहट देनी शुरू कर दी है। अब इस तस्वीर में देखें कि आखिर ट्विटर की नजर में तबाही क्या कहती है।

ये भी पढ़ें – अब ‘ताऊ’ ने कर दी गुजरात की ऐसी-तैसी! ऐतिहासिक स्टेशन का ऐसा कर दिया हाल

केवडिया में कहर
यह तस्वीर गुजरात पहुंचने के पहले की है। ताऊ ते ने राज्य में अपना पहला रुख किया ही था कि बर्बादी की कहानियां शुरू हो गईं। पश्चिम रेलवे कर्मचारी परिषद ने एक वीडियो पोस्ट किया है जिसमें केवडिया स्टेशन की आलीशान छत की फॉल सीलिंग कागज की तरह उड़ती दिखी। केवड़िया स्टेशन से ही स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के लिए जाया जाता है। इसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बनाया गया था। लेकिन देसी चक्रवात ने सारे रंग को एक झटके में ही उतार दिया।

इसके पहले ताऊ ते मुंबई में कहर बरपा चुका था। यहां के गेटवे ऑफ इंडिया की वीडियो एक ट्विटर उपयोगकर्ता ने पोस्ट की है जिनका नाम डॉ.शषांक जोशी है। वे इंडियन कॉलेज ऑफ फिजीशियन के डीन हैं। इस वीडियो में गेटवे ऑफ इंडिया के स्तर तक समुद्र का पानी पहुंच गया है और लहरें आ रही हैं।

तूफान से मौसम विभाग का कार्यालय भी नहीं बचा। वहां कई पेड़ धराशायी हो गए। इस वीडियो को हेड एसआईडी और क्लाइमेट रिसर्च के वैज्ञानिक केएस होसालिकर ने ट्वीट किया है। जिसमें मुंबई कार्यालय के बाहर की स्थिति दिख रही है।

मुंबई के प्रसिद्ध गिरगांव चौपाटी सिग्नल की दृष्य रूपाली बीबी ने अपने मोबाइल में शूट करके ट्वीट किया है। जिसमें बारिश के तेज बौछारों के कारण सामने से आ रही गाड़ियां भी नहीं दिख रही हैं। जबकि तेज हवाएं भी तबाही की सूचना लेकर चल रही थी।

मुंबई में ताऊ ते की तेज हवाओं का एक भयानक दृश्य प्रीति गांधी ने पोस्ट किया है। जो इसके रौद्र रूप को दर्शा रही है।

इस बीच कहानियां शौर्य की भी हैं। भारतीय तटरक्षक दल ने कोच्चि से 35 नॉटिकल माइल दूर समुद्र में फंसे आईएफई जिसस के 12 सदस्यों को बचाया।

इस सबके साथ समुद्र में मत्स्य उद्योग करनेवाले मछुआरों को भी घरों तक सुरक्षित लाने का कार्य चलता रहा। इस क्रम में भारतीय तटरक्षक दल के जवानों ने महाराष्ट्र की 4,526 मछली मारनेवाली नाव और गुजरात की 2,258 की नावों को सुरक्षित निगरानी में तटों तक वापस लाया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here