तो तबलीगी जमात के कार्यक्रम सा होगा हाल…

किसानों का आंदोलन जारी है। किसान ट्रैक्टरों के साथ सड़कों पर हैं। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट में आंदोलन पर सुनवाई चल रही है। सुप्रीम कोर्ट ने अपनी सुनवाई में किसानों के बड़ी संख्या में इकट्ठा होने पर आशंका व्यक्त की है कि वैसी ही परिस्थिति उत्पन्न होगी जैसी तबलीगी जमात के कार्यक्रम के बाद खड़ी हुई थी।

किसान आंदोलन पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है। इसमें कोर्ट ने केंद्र सरकार को नोटिस जारी कर रिपोर्ट मांगी है। कोर्ट ने दिल्ली की सीमा पर डेरा डाले बैठे किसानों की तुलना तबलीगी जमात के कार्यक्रम से करते हुए कहा है कि यहां भी कोविड-19 का संक्रमण फैलने का खतरा हो सकता है।

ये भी पढ़ें – अब अमेरिकी राष्ट्रपति हटाए जाएंगे?

किसानों का आंदोलन जारी है। किसान ट्रैक्टरों के साथ सड़कों पर हैं। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट में आंदोलन पर सुनवाई चल रही है। सुप्रीम कोर्ट ने अपनी सुनवाई में किसानों के बड़ी संख्या में इकट्ठा होने पर आशंका व्यक्त की है कि वैसी ही परिस्थिति उत्पन्न होगी जैसी तबलीगी जमात के कार्यक्रम के बाद खड़ी हुई थी। कोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा है कि कोविड-19 संक्रमण से बचने के लिए उसने क्या उपाय किये हैं। इस बारे में अब सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता अगली सुनवाई में सरकार द्वारा की गई कार्रवाई की रिपोर्ट पेश करेंगे।

ये भी पढ़ें – ये है भारत की दासता की दास्तान!

तबलीगी जमात में क्या हुआ था?

निजामुद्दीन मरकज, दिल्ली में मार्च 2019 में तबलीगी जमात का कार्यक्रम हुआ था। जिसमें महामारी के बावजूद देश विदेश से मुस्लिम धर्मावलंबी सम्मिलित हुए थे। इसके बाद कोविड-19 के संक्रमण में तेजी आई थी। बता दें कि अवैध रूप से इकट्ठा होने और सीबीआई द्वारा तबलीगी जमात के उस कार्यक्रम की जांच के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई च रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here