झूठ से पर्दा उठा! राज्य सरकार भी ले सकती है सीरम इंस्टट्यूट से टीका

कोवीशील्ड टीके का पूरा माल केंद्र सरकार द्वारा लिये जाने की सच्चाई सामने आ गई है। इसको लेकर प्रचारित हो रही बातों के बाद स्पष्ट किया गया है कि यह आरोप निराधार हैं।

बुधवार को एक आरोप सामने आया जिसमें यह कहा गया कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) ने 25 मई, 2021 तक के अपने सभी उत्पादन को केन्द्र सरकार को दे दिये है। इसलिए उस तारीख तक राज्य सरकारें एसआईआई से टीकों की खरीद नहीं कर पाएंगी।

देशव्यापी टीकाकरण अभियान का विस्तार करने और उसे उदार बनाने के उद्देश्य से, केन्द्र सरकार ने 19 अप्रैल, 2021 को उदारीकृत मूल्य निर्धारण और राष्ट्रीय स्तर पर कोविड-19 के त्वरित टीकाकरण की रणनीति की घोषणा की, जो 1 मई, 2021 से लागू होगी।

ये भी पढ़ें – ऑक्सीजन के लिए हाहकार, अब पीएम ने संभाला मोर्चा!

इस उदारीकृत मूल्य निर्धारण और राष्ट्रीय स्तर पर कोविड-19 के त्वरित टीकाकरण की रणनीति की एक प्रमुख विशेषता यह है कि “टीकों के निर्माता सेंट्रल ड्रग्स लेबोरेटरी (सीडीएल) द्वारा जारी अपनी मासिक खुराक के 50 प्रतिशत हिस्से की आपूर्ति भारत सरकार को करेंगे और शेष 50 प्रतिशत खुराकों की आपूर्ति राज्य सरकारों एवं भारत सरकार से इतर अन्य चैनलों को करने के लिए स्वतंत्र होंगे।” राज्य सरकारें टीका निर्माताओं से टीकों की खुराक खरीदने के लिए स्वतंत्र हैं।

इसलिए, यह बिल्कुल स्पष्ट है कि किसी भी टीका निर्माता के पास उपलब्ध सीडीएल द्वारा मंजूर कुल खुराकों में से 50 प्रतिशत खुराक भारत सरकार से इतर अन्य चैनलों के लिए हर महीने उपलब्ध होगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here