शिमला: प्रधानमंत्री ने केंद्र सरकार की योजनाओं के ‘इन’ लाभार्थियों से साधा संवाद

प्रधानमंत्री ने शिमला के रिज मैदान पर आयोजित गरीब कल्याण समारोह में केंद्र सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों से संवाद किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 31 मई को शिमला के ऐतिहासिक रिज मैदान पर आयोजित गरीब कल्याण समारोह में केंद्र सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों से संवाद किया। सबसे पहले उन्होंने केंद्र शासित राज्य लद्दाख के टशी तुंदूप से वर्चुअली बात की।

नरेंद्र मोदी ने टशी तुंदूप से पूछा कि उन्हें केंद्र सरकार की योजनाओं से क्या-क्या लाभ मिले हैं। टशी तुंदुप ने प्रधानमंत्री को बताया कि उसे प्रधानमंत्री आवास योजना से पक्का मकान बनाने में मदद मिली है। इसके बाद बिहार के बांका जिला की ललिता देवी ने केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत योजना और उज्ज्वला योजना का अनुभव साझा किया। ललिता देवी ने कहा कि केंद्र सरकार की योजनाओं से उन्हें रहने को घर मिला है। साथ ही शौचालय की सुविधा भी उपलब्ध हुई थी।

प्रधानमंत्री ने त्रिपुरा के पंकज साहनी से बात की। पंकज साहनी ने बताया कि वह मूलतः बिहार के हैं और रोजी-रोटी के लिए पिछले 10 वर्षों से त्रिपुरा में रह रहे हैं। वन नेशन वन राशन कार्ड के तहत त्रिपुरा में उनका राशन कार्ड बना है। पंकज ने बताया कि नल, नल में पानी और बिजली सुविधा का भी उन्हें लाभ मिला है।

प्रधानमंत्री ने कर्नाटक के कालाबूरगी जिले की संतोषी से बात करते हुए पूछा कि आपको सरकार की किन योजनाओं से संतोष हुआ। इस पर संतोषी ने जवाब दिया कि उनके गांव में हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर से सभी गांववासी लाभान्वित हो रहे हैं। सबका चेकअप हो रहा है और निःशुल्क दवा मिल रही है। संतोषी के जवाब पर प्रधानमंत्री ने कहा कि यदि वह कर्नाटक में होते और भाजपा के कार्यकर्ता होते तो वह आपको चुनाव लड़वा देते।

पीएम मुद्रा योजना के लाभार्थी गुजरात के मेहसाणा जिला निवासी अरविंद से प्रधानमंत्री ने बात की। अरविंद ने कहा कि उन्होंने मुद्रा लोन के तहत ऋण लेकर अपना कारोबार शुरू किया है। प्रधानमंत्री ने अरविंद से कहा कि आप अब रोजगार खोजने वाले नहीं, बल्कि रोजगार देने वाले बन गए हैं।

प्रधानमंत्री ने समारोह स्थल रिज मैदान पर मौजूद हिमाचल के सिरमौर जिला निवासी समा देवी से भी बात की। समा देवी ने कहा कि पहले मुझे प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मकान मिला। इससे कच्चे मकान को पक्का बनाया। सरकार से डेढ़ लाख की राशि मिली। समा देवी ने कहा कि वह खेतीबाढ़ी करती है और पीएम किसान सम्मान निधि के तौर पर उसे हर साल छह हजार रूपये मिलते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here