राज कुंद्रा प्रकरण: शर्लिन-पूनम क्यों घबराईं… पढ़ें उस धंधे का इंटरनल कनेक्शन

राज कुंद्रा अब अपनी जमानत लिए उच्च न्यायालय जाएंगे।

अभिनेत्री शर्लिन चोपड़ा और पूनम पाण्डे के विरुद्ध मुंबई क्राइम ब्रांच कोई कार्रवाई नहीं कर सकती। इन अभिनेत्रियों को अपने ऊपर कार्रवाई का अंदेशा था, जिसके कारण दोनों ही अभिनेत्रियों ने बॉम्बे उच्च न्यायालय में याचिका दायर की थी। पूनम पाण्डे का राज कुंद्रा से विवाद चल रहा है जबकि, शर्लिन चोपड़ा पर झूठ बोलने का आरोप लग रहा है। इन आरोप प्रत्यारोपों की बीच प्रवर्तन निदेशालय ने राज कुंद्रा से जुड़े प्रकरण की एफआईआर कॉपी मांगी है।

राज कुंद्रा के व्यवसाय में एक गिरफ्तारी गहना वशिष्ठ की भी हुई थी, जो वर्तमान में जमानत पर हैं। गहना ने शर्लिन और पूनम का राज खोला है। उसने बताया है कि राज कुंद्रा का व्यवसाय भारत के बाहर से संचालित होता है। इस कंपनी का एक ऐप है ‘हॉटशॉट’। राज कुंद्रा की कंपनी का नाम है आर्म्स प्राइम। राज कुंद्रा के व्यवसाय में विदेश से भी जांच की जा सकती है, इसको देखते हुए प्रवर्तन निदेशालय ने मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच से एफआईआर की प्रति मांगी है। अंदेशा है कि ईडी एस प्रकरण में जल्द जांच शुरू करेगा।

ये भी पढ़ें – जो वेटिंग पर हैं, वो वेटिंग पर ही रहेंगे! पवार का तंज

ये है आर्म्स प्राइम से संबंध
राज कुंद्रा की कंपनी आर्म्स प्राइम ने शर्लिन चोपड़ा और पूनम पाण्डे के लिए भी ऐप बनाए थे। आरोप है कि पूनम अश्लील वीडियो वर्षों से करती रही हैं। पूनम और उसके पति द्वारा ऐसे कई वीडियो करने की बात भी सामने आई है। हालांकि, पूनम पाण्डे ने 2019 में राज कुंद्रा के विरुद्ध न्यायालय में याचिका दायर की है। पूनम ने आरोप लगाया था कि कंपनी अपने कन्टेट में अवैध रूप से उसके फोटो का उपयोग कर रही है। जबकि, आर्म्स प्राइम और पूनम पाण्डे का समझौत समाप्त हो गया है।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार शर्लिन चोपड़ा के ऐप का निर्माण भी आर्म्स प्राइम ने किया था। पोर्न वीडियो के निर्माण और प्रदर्शन के आरोप में शर्लिन चोपड़ा का बयान मार्च में दर्ज किया गया था।

कुंद्रा के धंधे का आर्थिक राज
राज कुंद्रा और उनकी कंपनी बॉलीफेम मीडिया लिमिटेड ने एक आर्थिक लक्ष्य रखा था। जिसके अनुसार 2023-24 तक उन्हें 146 करोड़ रुपए का व्यवसाय करना था, जिसमें से 34 करोड़ रुपए का लाभ होता। यह जानकारी एक अंग्रेजी टेब्लॉयड ने राज कुंद्रा के खिलाफ दायर आरोप पत्र के आधार पर दी है। इसी प्रकार वर्ष 21-22 में कुंद्रा की कंपनी को 36.50 करोड़ के व्यपार की आशा थी, जिसमें से 4.76 लाख रुपए के लाभ की आशा थी। इसी प्रकार वर्ष 22-23 में 73 करोड़ रुपए के व्यापार का लक्ष्य बनाया था।

बॉलीफेम की भी जांच
राज कुंद्रा का पुराना ऐप हॉटशॉट ऐप स्टोर पर प्रतिबंधित कर दिया गया था, जिसके बाद बॉलीफेम नामक ऐप को राज की कंपनी ने लांच किया। सूत्रों के अनुसार हॉटशॉट ऐप प्रतिबंधित होने के बाद उसके कन्टेट को बॉलीफेम पर लोड कर दिया गया। अब राज कुंद्रा के घर से जब्त सर्वर और फाइल इस प्रकरण में अधिक प्रकाश डालेंगी।
अंग्रेजी टेब्लॉयड के अनुसार कामत, कुंद्रा और उसके संबंधी प्रदीप बख्सी के व्हाट्स ऐप चैट के अनुसार इन लोगों ने प्लान भी तैयार रखा था। इसके अलावा राज कुंद्रा बॉलीफेम ऐप पर सेलेब्रिटी को लाइव स्ट्रीमिंग के लिए लाने की योजना पर कार्य कर रहा था। इनका विश्वास था कि इससे व्यापार बढ़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here