ऑक्सीजन के लिए हाहाकार के बीच सऊदी ने ऐसे निभाया दोस्ती का फर्ज!

सऊदी अरब ने अब भारत की इस विकट परिस्थिति में मदद का हाथ बढ़ाकर दोस्ती का फर्ज निभाया है। सऊदी अरब भारत की जरुरतों को देखते हुए 80 मीट्रिक टन ऑक्सीजन दे रहा है।

कोरोना की सुनामी के कारण देश में ऑक्सीजन की कमी की गूंज विदेशों में भी सुनाई देने लगी है। सऊदी अरब ने अब भारत की इस विकट परिस्थिति में मदद का हाथ बढ़ाकर दोस्ती का फर्ज निभाया है। सऊदी अरब भारत की जरुरतों को देखते हुए 80 मीट्रिक टन ऑक्सीजन दे रहा है। अडानी समूह और लिंडे कंपनी के सहयोग से ऑक्सीजन लेकर जहाज भारत के लिए रवाना हो चुकी है।

रियाद स्थित भारतीय हाई कमिशन ने ट्वीट कर इस बारे में जानकारी दी। ट्वीट में कहा गया कि सऊदी अरब के स्वास्थ्य मंत्रालय को उनकी इस मदद, समर्थन और सहयोग के लिए हमारा हार्दिक धन्यवाद।

अडानी समूह ने कही ये बात
अडानी समूह के चेयरमैन गौतम अडानी ने भी ट्वीट किया और कहा कि असल में रियाद स्थित भारतीय दूतावास आपको धन्यवाद। शब्द से ज्यादा काम बोलता है। हम इस समय दुनियाभर से ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए अत्यावश्यक काम में लगे हुए हैं। 80 टन ऑक्सीजन की पहली खेप इस समय दम्मम से मुंद्रा की ओर रवाना हो गई है।

बगदाद में अस्पताल में आग लगने से 82 लोगों की मौत
इस बीच इराक की राजधानी बगदाद में कोरोना के उपचार के दौरान अस्पताल में ऑक्सीजन टैंक फटने के बाद आग लगने के कारण 82 लोगों की मौत हो गई, जबकि 110 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं। इराक के गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने इस दुर्घटना के बाद देश के सभी अस्पतालों में नए सिरे से सुरक्षा की समीक्षा करने के निर्देश दिए हैं। यह अग्निकांड 24 अप्रैल को दियाला ब्रिज क्षेत्र के इब्न खातिब अस्पताल में हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here