कोरोना से जंगः भारत को मिलेगा एक और हथियार

भारत को कोरोना से जंग में तीसरा हथियार मिलने जा रहा है।नीति स्वास्थ्य समिति के सदस्य वीके पॉल ने इस बारे में जानकारी दी है।

भारत में अगले हफ्ते से रुसी वैक्सीन स्पूतनिक वी उपलब्ध हो सकती है। इसी के साथ भारत को कोरोना से जंग में तीसरा हथियार मिल जाएगा। नीति स्वास्थ्य समिति के सदस्य वीके पॉल ने इस बारे में जानकारी दी है।

पॉल ने बताया कि स्पूतनिक वी की बड़ी खेप भारत पहुंच चुकी है और उम्मीद है कि अगले सप्ताह से यह भारतीय बाजार में उपलब्ध हो जाएगी।

जुलाई से भारत में निर्माण
वीके पॉल ने कहा कि इस वैक्सीन की और भी खेप भारत आएगी। इसके साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि जुलाई से स्पूतनिक वी का उत्पादन भारत में शुरू हो जाएगा। भारत में स्पूतनिक वैक्सीन के 15.6 डोज हर वर्ष तैयार किए जाएंगे।

ये भी पढ़ेंः खुशखबर! अब देश में बच्चों को भी जल्द मिलेगी वैक्सीन

18 करोड़ लोगों को लगा टीका
देश में अभी तक लगभग 18 करोड़ लोगों को कोरोन वायरस रोधी टीका लगाए जा चुके हैं, जबकि अमेरिका में सबसे ज्यादा 26 करोड़ लोगों का टीकाककरण किया जा चुका है। टीकाकरण के मामले में भारत दुनिया में तीसरे क्रमांक पर है।

तीसरे क्रमांक पर भारत
पॉल ने कहा कि मुझे खुशी है कि 45 साल से अधिक उम्र वाले एक तिहाई लोगों को टीके का वरदान मिल चुका है। 45 साल या उससे अधिक आयु के ही 88 प्रतिशत लोगों की अब तक कोरोना से मौत हुई है। ऐसे में इस आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण काफी महत्वपूर्ण है। सरकार ने इस पर अपना ध्यान केंद्रित कर रखा है।

खुशखबर
बता दें कि देश के 187 जिलों में कोरोना के मामलों मे बीत दो सप्ताह में लगातार कमी देखी जा रही है। यूपी, दिल्ली जैसे राज्यों में भी संक्रमण में गिरावट आई है। इसके आलावा बिहार में भी स्थिति में सुधार है। यहां एक्टिव केसों की संख्या एक लाख से नीचे आ गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here