सीजेआई ने बताया लोकतंत्र में जनता को असली मालिक, शासकों को दी यह सलाह!

सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश एन वी रमन ने दुनिया भर के शासकों के लिए बड़ी बात कही है। उन्होंने उन्हें आईना दिखाया है।

सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश एन वी रमन ने देश के शासकों को सलाह दी है। उन्होंने कहा है कि शासकों को प्रतिदिन समीक्षा करनी चाहिए कि उनके निर्णय अच्छे हैं या बुरे।

उन्होंने कहा, “शासकों में 14 बुरे गुण होते हैं और उन्हें उनसे बचना चाहिए।” सीजेआई ने यह कहते हुए महाभारत और रामायण का जिक्र किया। वे आंध्र प्रदेश की पुट्टपर्थी में श्री सत्य साईं उच्च शिक्षा संस्थान के 40वें स्नातक समारोह में बोल रहे थे।

‘लोकतंत्र में लोग असली मालिक’
मुख्य न्यायाधीश ने कहा, “लोकतांत्रिक व्यवस्था के सभी शासकों को अपना दैनिक कार्य प्रारंभ करने से पहले आत्ममंथन करना चाहिए। न्याय लोगों की जरूरतों के अनुसार किया जाना चाहिए।लोकतंत्र में लोग असली मालिक होते हैं और सरकार जो भी फैसला करती है, वह उनके फायदे के लिए होने चाहिए।”

ये भी पढ़ें – अमरावती दंगाः फडणवीस का हिंदुओं पर झूठा मामला दर्ज करने का आरोप! राउत ने कहा, “यहां ठाकरे सरकार…”

‘सभी व्यवस्थाएं स्वतंत्र और ईमानदार होनी चाहिए’
सीजेआई ने कहा, “देश में सभी व्यवस्थाएं स्वतंत्र और ईमानदार होनी चाहिए और उनका उद्देश्य लोगों की सेवा करना होना चाहिए। दुर्भाग्य से, आधुनिक शिक्षा प्रणाली केवल उपयोगितावादी कार्यों पर ध्यान केंद्रित कर रही है। यह छात्रों के चरित्र को आकार देने वाले शिक्षा के नैतिक और आध्यात्मिक पक्षों के लिए उपयुक्त नहीं है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here